Career

District Collector Kaise Bane? District Collector Banne ke Liye Kya Kare? डीसी कैसे बने? डीसी बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए.

District Collector Kaise Bane
Written by Naukriejob.com

नमस्कार दोस्तों! आज मैं आपको District Collector Kaise Bane? के बारे में बताने जा रही हूँ. आज के समय में हर कोई सरकारी नौकरी पाना चाहता है. कोई कलेक्टर, एसडीओ तो कोई डीसी/ डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर बनना चाहते हैं. क्योंकि कलेक्टर को अच्छा वेतन मिलता है, उसके साथ ही समाज सेवा करने का अवसर भी मिलता है.

अधिकतर युवाओं का सपना कलेक्टर बनने का होता है. लेकिन जिला कलेक्टर (DC) बनना इतना आसान नहीं है. कलेक्टर बनने के लिए बहुत पढाई करनी पड़ती है. क्योंकि आज के समय में प्रतियोगिता (Competition) बहुत अधिक बढ़ गयी है. जहाँ 200 पदों की भर्ती के लिए जॉब अधिसूचना निकलती है, वहां लगभग लाखों लोग आवेदन करते है. ऐसे में सरकारी नौकरी मिलना काफी मुश्किल है.

लेकिन अगर आपमें कलेक्टर बनने का लक्ष्य है और आप मेहनत और लग्न के साथ कलेक्टर बनने की तैयारी करते हैं, तो आपको सफलता अवश्य मिलेगी. पहली बार में नहीं लेकिन दूसरी बार में सफलता अवश्य मिलेगी. इसके लिए धैर्य और दृढनिश्चय के साथ मेहनत करनी होगी.

अगर आप कलेक्टर बनना चाहते हैं तो आपको मालूम होना चाहिए कि Collector Kaise Bante Hai? District Collector Kaise Bane? District Collector Banne ke Liye Kya Kare? एवं District Collector Banne ke Liye Yogyata क्या होनी चाहिए.

तो आज मैं आपसे District Collector Kaise Bante Hai? के बारे में बात करने जा रही हूँ. अगर आप सोच रहे हैं कि District Collector Banne ke Liye Kya Kare? तो आप यह आर्टिकल District Collector Kaise Bane? अंत तक जरुर पढ़िए.

कलेक्टर क्या होता है? District Collector Kise Kahte Hai?

डीसी/कलेक्टर राज्य के किसी जिले का मुख्य प्रशासनिक अधिकारी होता है. जिले के सभी विभाग डीसी के अधीनस्थ होते हैं. वह सभी विभागों का सर्वोच्च अधिकारी होता है. साधारण भाषा में कहा जाये तो,कलेक्टर (डीसी) किसी एक जिला (District) का मालिक होता है.

जिले के अंतर्गत सभी सरकारी योजनाओं को कलेक्टर लागु करता है. छोटे-बड़े सभी निर्णयों को डीसी/ जिला कलेक्टर लेता है और अपने अधीनस्थ अधिकारियों को सूचना देता है. उसके साथ ही आम जनता की समस्याओं को हल करता है, सरकारी योजनाओं को ग्रामों तक पहुंचा है और जिले की जानकारी सरकार को देते हैं.

District Collector Banne ke Liye Yogyata: DC Kaise Bane?

अब हम बात करेंगे कि Collector Banne ke Liye Qualification क्या होनी चाहिए. जिला कलेक्टर/ डीसी बनने के लिए आपके पास कुछ योग्यताएं होनी चाहिए. तभी आप डीसी बनने का सपना पूरा कर पायेंगें.

  • सबसे पहले आपको 12th कक्षा किसी भी संकाय में उत्तीर्ण करनी होगी.
  • उसके बाद किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी विषय में स्नातक (Graduation) पास करना होगा.
  • अभ्यर्थी भारत का नागरिक हो.
  • उम्मीदवार की न्यूनतम उम्र 21 वर्ष और अधिकतम उम्र 32 वर्ष होनी चाहिए.
  • आरक्षण के अनुसार OBC/ SC/ST के लिए उम्र-सीमा में छुट है.

District Collector Banne ke Liye Kya Kare?

डीसी बनने के लिए शुरूआत से ही मेहनत और लग्न के साथ पढाई करें. बारहवीं कक्षा पास करने के बाद से ही आप सिविल सर्विस एग्जाम की तैयारी करना शुरू कर दें. इससे लोक सेवा आयोग परीक्षा की तैयारी करने में आसानी होगी. क्योंकि कलेक्टर भर्ती के लिए होने वाली सिविल सेवा की परीक्षा बहुत कठिन होता है.

ग्रेजुएशन पास करने के बाद जिला कलेक्टर या डीसी की भर्ती के लिए संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा संचालित होने वाली All India Civil Service Exam में शामिल  में हो सकते हैं. स्नातक पास उम्मीदवार ही सिविल सर्विस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं.

Union Public Service Commission प्रति वर्ष स्नातक पास युवाओं के लिए सिविल सर्विस परीक्षा आयोजित करती है. अगर आप कलेक्टर बनना चाहते हैं, तो यूपीएससी द्वारा संचालित Civil Service Exam के लिए आवेदन करें.

जो उम्मीदवार सिविल सेवा परीक्षा में सफल होते हैं. उनका चयन प्रशासनिक सेवा अधिकारी पद के लिए होता. Merit List के आधार पर पद प्राप्त होता है.

Collector Kaise Bane? District Collector Kaise Bane? 

District Collector Banne ke Liye Qualification क्या होनी चाहिए. ये जानने के बाद आपके मन सवाल होगा कि District Collector Kaise Bante Hai?

  • जिला अधिकारी या डीसी बनने के लिए सबसे पहले आपको ग्रेजुएशन पास करना होगा.
  • स्नातक पास करने के बाद UPSC द्वारा संचालित होने वाली Civil Service Exam के लिए आवेदन करें.
  • सिविल सेवा परीक्षा के लिए प्रति वर्ष UPSC (CSE) Exam Form निकालती है.
  • CSE परीक्षा फॉर्म को भरे.
  • सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी मेहनत और लग्न के साथ करें.
  • उसके बाद यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा (Prelims Exam) को उत्तीर्ण करना होगा.
  • Prelims Exam पास करने के बाद Mains Exam उत्तीर्ण होगा.
  • प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा पास करने बाद Interview के लिए बुलाया जाता है.
  • इंटरव्यू में सफल अभ्यर्थियों का चयन कलेक्टर पद के लिए होता है.
  • अगर आप मेहनत और लग्न के साथ अच्छे से पढाई करते हैं, तो आप आसानी से Civil Service Exam उत्तीर्ण करके डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर/डीसी बन सकते हैं.

इसे भी पढ़े: IAS Kaise Bane? IAS Banne ke Liye Yogyata

District Collector Kaise Bane? कलेक्टर बनने के लिए कौन- सी-परीक्षा देनी पड़ती है.

कलेक्टर/डीसी बनने के लिए यूपीएससी द्वारा संचालित होने वाली Civil Service Exam पास करना पड़ता है. UPSC की CSE परीक्षा तीन चरणों में होती है.

प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam):

यह यूपीएससी की प्रथम चरण की परीक्षा होती है. Prelims Exam में कुल दो पेपर होते हैं. 1st पेपर में सामान्य ज्ञान और 2nd पेपर में सिविल सर्विस एप्टीटयुड टेस्ट होता है. दोनों पेपर कुल 200-200 अंकों की होती है और सभी प्रश्न वैकल्पिक होते हैं. इस परीक्षा को उत्तीर्ण करना होता है. प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद मुख्य परीक्षा होती है.

मुख्य परीक्षा (Mains Exam):

प्रारंभिक परीक्षा पास करने के बाद मुख्य परीक्षा होती है. प्रथम चरण की परीक्षा का परिणाम घोषित होने के दो-तीन महीने बाद मुख्य परीक्षा होती है. जो अभ्यर्थी पहली परीक्षा में उत्तीर्ण होते हैं, उनके लिए मुख्य परीक्षा होती है. Mains Exam में कुल 9 पेपर की परीक्षा होती है. यह परीक्षा सिविल सर्विस एग्जाम की सबसे कठिन परीक्षा होती है.

मैंस एग्जाम में वर्णात्मक प्रश्न पूछे जाते हैं. प्रश्नों का उत्तर अपने शब्दों में लिखना होता है. प्रत्येक पेपर को हल करने के लिए 3 घंटे का समय दिया जाता है. मुख्य परीक्षा के दो पेपर क्वालीफाई पेपर होते हैं और बाकी सभी मेरिट की होती है. पहला और दूसरा पेपर का अंक मेरिट लिस्ट में नहीं जोड़ा जाता है. पेपर 1 और 2 दो-सौ अंकों की होती है और बाकि सभी सात पेपर कुल 250-250 अंकों की होती है.

इंटरव्यू (Interview):

साक्षात्कार तीसरी चरण या अंतिम चरण की परीक्षा होती है. प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा पास करने के बाद साक्षात्कार होता है. जो अभ्यर्थी दोनों परीक्षाओं में उत्तीर्ण होते हैं, केवल वैसे अभ्यर्थी को ही इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है.

Interview में अधिकारी आपसे कुछ सवाल करते हैं, उनका जवाब ठीक से देना होता है. सवालों के माध्यम से आपके ज्ञान और व्यवहार की जाँच की जाती है. इंटरव्यू में सफल अभ्यर्थियों का चयन कलेक्टर पद के लिए होता है. मेरिट लिस्ट के अनुसार नियुक्ति होती है.

कलेक्टर बनने के लिए तैयारी कैसे करें? District Collector Banne ke Liye Kya Kare?

आपको समझ में आ गया होगा कि District Collector Kaise Bante Hai? और आप सोच रहें होंगे कि कलेक्टर/डीसी बनने के लिए यूपीएससी परीक्षा की तैयारी कैसे करें.

  • सबसे पहले आप बारहवीं कक्षा की पढाई किसी भी विषय में पूरा करें.
  • उसके बाद ग्रेजुएशन डिग्री उत्तीर्ण करें.
  • सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के लिए practice Book ख़रीदे, यह किताब आपके शहर में मिल जाएगी.
  • पढाई करने के लिए समय-सारणी बनाये.
  • कम से कम 6 घंटे मेहनत से पढाई करें.
  • Self Study पर ध्यान दें.
  • सामान्य ज्ञान (GK) का अध्ययन कीजिए.
  • परीक्षा की तैयारी के लिए आप Coaching ज्वाइन कर सकते हैं.
  • Current Affairs पर ध्यान दें, देश-विदेश में प्रतिदिन क्या हो रहा है.
  • करंट अफेयर्स की जानकारी के लिए Newspaper पढ़ें.
  • पिछले दो-तीन वर्षों के प्रश्न-पत्रों को जमा करें और उनका अभ्यास करें.
  • क्योंकि पिछले वर्षों के प्रश्न-पत्रों की तरह की प्रश्न पूछे जाते है.
  • अगर किसी प्रश्न को समझ में न आये, तो उसे Internet पर सर्च कीजिये.
  • Self Confidence के साथ पढाई करें.
  • सकारात्मक सोच के साथ पढाई करेंगे, तो सफलता अवश्य मिलेगी.

निष्कर्ष: District Collector Kaise Bane? District Collector Banne ke Liye Kya Kare?

तो दोस्तों! यही है Collector Kaise Bante Hai? पूरी डिटेल जानकारी. हमें आशा है कि आपको यह आर्टिकल District Collector Kaise Bane? अच्छा लगा होगा. और अब आपको अच्छे-से पता चल गया होगा कि District Collector Banne ke Liye Yogyata क्या होनी चाहिए.

इससे सम्बंधित अगर आपके मन में किसी भी तरह का कोई भी सवाल हो, तो आप हमें निचे Comment कर जरुर बताएं.

इसे भी पढ़े: Bank PO Kaise Bante Hai?

About the author

Naukriejob.com

Leave a Comment