आंगनवाड़ी टीचर कैसे बनते हैं? Anganwadi Teacher ke Liye Qualification

गर्भवती महिलाओं एवं कुपोषित बच्चों के विकास को ध्यान में रखकर ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में आंगनवाड़ी केन्द्रों की स्थापना की गयी है. आंगनवाड़ी केन्द्र की संचालन हेतु एक आंगनवाड़ी सेविका और एक सहायिका होती है. आंगनवाड़ी की शिक्षिका को सेविका और रसोईया को सहायिका का नाम दिया गया है. सेविका बच्चों को पढ़ाती है तथा कार्यालय कार्य को संभालती है. अब आपके मन में सवाल होगा कि आंगनवाड़ी टीचर कैसे बनते हैं? तो आज मैं आपसे इसी के बारे में बात करेंगे कि Anganwadi Teacher ke Liye Qualification क्या होनी चाहिए.

आंगनवाडी सेविका किसे कहते हैं? 

आंगनवाड़ी की शिक्षिका या मैडम को ही आंगनवाड़ी सेविका कहते हैं. शिक्षिका का काम बच्चों को पढाना है और कार्यालय कार्य को करना होता है. सेविका के पास एक ही आंगनवाडी केंद्र की सम्पूर्ण कार्यभार होती है. भारत सरकार की महिला एवं बाल विकास विभाग के तहत आंगनवाडी योजना संचालित है. सेविका बच्चों की पढ़ाती है और कार्यालय कार्य करती है. इसके साथ ही गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण व खाद्य सामग्री का वितरण, बच्चों का टीकाकरण, पोलियो अभियान में बच्चों को दवाई पिलाना आदि अन्य सरकारी योजना से सम्बंधित कार्य करती है.

Anganwadi Teacher Kaise Bante Hai? 

  • आंगनवाडी टीचर बनने के लिए सबसे पहले किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण करना होता है.
  • उसके बाद किसी मान्यता प्राप्त संस्थान/ विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन डिग्री प्राप्त करनी होती है.
  • ग्रेजुएशन डिग्री प्राप्त करने के बाद आंगनवाड़ी टीचर के लिए अप्लाई कर सकते हैं.
  • समय-समय पर राज्य सरकार की महिला एवं बाल विकास विभाग आंगनवाड़ी की रिक्ति पदों की भर्ती के लिए सूचना जारी करती है.
  • जब Anganwadi Teacher ki Vacancy  निकलती है, तब आवेदन कर सकते हैं.
  • एप्लीकेशन फॉर्म भरने के बाद उम्मीदवार की शैक्षणिक योग्यता का प्रमाण-पत्र की जाँच होती है.
  • दसवीं, बारहवीं और ग्रेजुएशन के अंकों के आधार पर मेरिट बनता है.
  • जिनकी परसेंटेज अच्छी होती है, उनका नाम मेरिट में होती है.
  • आंगनवाड़ी टीचर की भर्ती के लिए किसी भी प्रकार की कोई भी परीक्षा नहीं होती. मेरिट के आधार पर आंगनवाडी टीचर की नौकरी मिलती है.

Anganwadi Teacher ke Liye Qualification 

  • अभ्यर्थी किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से अच्छे अंकों में 10th और किसी भी स्ट्रीम में 12th पास हो.
  • और उम्मीदवार किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक (Graduation) उत्तीर्ण हो.
  • आंगनवाडी टीचर के लिए ग्रेजुएशन उत्तीर्ण होना अनिवार्य है.

Anganwadi Teacher ke Liye Eligibility 

  • आवेदक महिला उम्मीदवार होनी चाहिए.
  • किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन पास होनी चाहिए.
  • आंगनवाडी टीचर बनने के लिए Graduation डिग्री अनिवार्य होती है.
  • अभ्यर्थी की न्यूनतम उम्र 18 वर्ष और अधिकतम उम्र 35 वर्ष होनी चाहिए.

आंगनवाडी टीचर की सैलरी कितनी होती है? 

आंगनवाडी टीचर या सेविका की सैलरी 7000 रूपये से 8000 रूपये होती है. सभी राज्यों में आंगनवाडी सेविकाओं की सैलरी अलग-अलग होती है. सभी राज्य की सरकारें आंगनवाडी सेविका को अलग-अलग मानदेय देती है. आंगनवाड़ी टीचर की सैलरी का आधा आंगनवाडी सहायिका को मानदेय मिलता है.

इसे भी पढ़ें: आंगनवाड़ी सुपरवाइजर कैसे बने?

2 thoughts on “आंगनवाड़ी टीचर कैसे बनते हैं? Anganwadi Teacher ke Liye Qualification”

Leave a Comment