Bihar Daroga Kaise Bane? Bihar Police SI Kaise Bane? Bihar Daroga ke Liye Qualification, Height, Selection Process

पुलिस डिपार्टमेंट में कई पद होते हैं, जिनमें एक दरोगा (सब-इंस्पेक्टर) का पद होता है. दरोगा का पद पुलिस विभाग में सर्वोच्च एवं जिम्मेदारी वाला होता है. दरोगा किसी पुलिस थाने या पुलिस चौकी का प्रभारी या प्रमुख पुलिस अधिकारी होता है. इनका पद हेड कांस्टेबल से उच्च स्तर का होता है. एक पुलिस थाने या चौकी का सारा कार्यभार दरोगा के हाथों में होता है. तो आज आप जानेंगे कि बिहार पुलिस में दरोगा कैसे बने? Bihar Daroga Kaise Bane? बिहार पुलिस दरोगा का सैलरी कितना होता है? Bihar Daroga/ SI Seletion Process in Hindi

दरोगा किसे कहते हैं?

पुलिस उपनिरीक्षक (Sub Inspector/ SI) को दरोगा कहा जाता है. दरोगा किसी पुलिस थाने/ पुलिस चौकी (police station) का प्रमुख या प्रभारी पुलिस अधिकारी होता है. एक पुलिस चौकी का सारा कार्यभार दरोगा के हाथों में होता है. पुलिस चौकी में जितने भी अन्य पुलिस कर्मी होते हैं, उनके कार्यों की देखरेख करता है. दरोगा का पद हेड कांस्टेबल के पद से उच्च स्तर का होता है.

बिहार पुलिस में दरोगा बनने के लिए क्या करें?

बिहार पुलिस में दरोगा बनने के लिए सबसे पहले आप किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से किसी भी स्ट्रीम में बाहरवीं कक्षा (10+2) उत्तीर्ण करें. उसके बाद किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी सब्जेक्ट में स्नातक डिग्री (Graduation) उत्तीर्ण करें. ग्रेजुएशन पास करने के बाद बिहार पुलिस सब-इंस्पेक्टर/ दरोगा भर्ती परीक्षा के लिए आवेदन करें. बिहार पुलिस अधीनस्थ सेवा आयोग (Bihar Police Subordinate Service commission/ BPSSC) समय-समय पर बिहार पुलिस सब-इंस्पेक्टर (Bihar Police SI) भर्ती परीक्षा के लिए एप्लीकेशन सुचना निकालती है.

जब बिहार पुलिस दरोगा (SI) भर्ती परीक्षा हेतु एप्लीकेशन फॉर्म निकलता है, उस समय अप्लाई करें. आवेदन करने के बाद बिहार पुलिस दरोगा भर्ती परीक्षा की तैयारी करें. और दरोगा भर्ती चयन परीक्षा (प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा, फिजिकल टेस्ट और मेडिकल टेस्ट) उत्तीर्ण करें. क्योंकि प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा (लिखित परीक्षा) और फिजिकल टेस्ट एवं मेडिकल टेस्ट के द्वारा दरोगा का चयन होता है.

Bihar Daroga ke Liye Qualification

  • उम्मीदवार किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से बारहवीं कक्षा (10+2) किसी भी स्ट्रीम में उत्तीर्ण होना चाहिए.
  • और उम्मीदवार किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी सब्जेक्ट में स्नातक डिग्री (Graduation) उत्तीर्ण होना चाहिए.
  • दरोगा बनने के लिए ग्रेजुएशन डिग्री होना अनिवार्य है.

Bihar Daroga ke Liye Height

  • सामान्य वर्ग/ अत्यंत पिछड़ा वर्ग (General/ OBC) पुरुष उम्मीदवार की हाइट 165 cm होना चाहिए.
  • और सीना (Chest) बिना फुलाए 81 cm से 86 cm होना चाहिए.
  • अनुसूचित जाति/ जनजाति (SC/ ST) पुरुष उम्मीदवार की ऊंचाई 160 cm होना चाहिए. और छाती 79 cm से 84 cm होना चाहिए.
  • महिला उम्मीदवार की उंचाई (all female candidate) कम से कम 155 cm होना चाहिए.
  • और महिला उम्मीदवार का वजन 48 Kg होना चाहिए.

दरोगा के लिए योग्यता- Bihar Daroga ka Age Limit

  • अभ्यर्थी का न्यूनतम उम्र 20 वर्ष तथा अधिकतम उम्र 37 वर्ष होना चाहिए.
  • आरक्षित वर्ग और महिला कैंडिडेट के लिए अधिकतम उम्र-सीमा में छुट दिया जाता है.
  • OBC केटेगरी male कैंडिडेट के लिए अधिकतम उम्र-सीमा 40 वर्ष होता है.
  • General/ OBC केटेगरी महिला कैंडिडेट के लिए अधिकतम उम्र-सीमा 40 वर्ष होता है.
  • अनुसूचित जाति/ जनजाति (SC/ ST) महिला/ पुरुष उम्मीदवार के लिए अधिकतम उम्र-सीमा 42 वर्ष होता है.

बिहार पुलिस दरोगा/ SI के लिए योग्यता

  • उम्मीदवार कम से कम किसी मान्यता प्राप्त विश्विद्यालय से स्नातक डिग्री (Graduation) उत्तीर्ण होना चाहिए.
  • आवेदक का न्यूनतम उम्र 20 वर्ष तथा अधिकतम 37 वर्ष होना चाहिए.
  • आरक्षित वर्ग (Reserve Category) के कैंडिडेट के लिए अधिकतम उम्र सीमा में 3-5 वर्ष का छुट होता है.
  • पुरुष उम्मीदवार की हाइट 165 cm होना चाहिए.
  • आरक्षित वर्ग के पुरुष उम्मीदवारों को हाइट में छुट दिया जाता है.
  • महिला उम्मीदवार की हाइट 155 cm होनी चाहिए.

Bihar Daroga Kaise Bane? बिहार पुलिस में दरोगा कैसे बनते हैं?

  • बिहार पुलिस में दरोगा बनने के लिए सबसे पहले आप दसवीं कक्षा उत्तीर्ण करें.
  • उसके बाद किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से किसी भी संकाय में बारहवीं कक्षा (10+2) उत्तीर्ण करें.
  • 12वीं पास करने के बाद किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी सब्जेक्ट में स्नातक डिग्री (Graduation) उत्तीर्ण करें.
  • ग्रेजुएशन डिग्री प्राप्त करने के बाद बिहार दरोगा के लिए आवेदन करें.
  • बिहार पुलिस अधीनस्थ सेवा आयोग (Bihar Police Subordinate Service commission/ BPSSC) समय-समय पर  Bihar Police SI/ बिहार पुलिस दरोगा के लिए job notification जारी करती है.
  • जब BPSSC बिहार पुलिस दरोगा भर्ती (Bihar Police SI Recruitment) के लिए एप्लीकेशन फॉर्म निकालती है, उस समय ऑनलाइन अप्लाई करें.
  • बीपीएसएससी के ऑफिसियल वेबसाइट पर अप्लाई करना होगा.
  • आवेदन करने के बाद लिखित परीक्षा उत्तीर्ण करना होगा, जो दो चरणों (प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा) में आयोजित होती है.
  • प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद शारीरिक दक्षता व मापन परीक्षा (Physical Test) उत्तीर्ण करना होता है.
  • फिजिकल टेस्ट में दौड़ (Race), ऊँची कूद (high jump), लम्बी कूद (Long jump) और shot put होता है.
  • उसके बाद मेडिकल टेस्ट होता है, जिसमें उम्मीदवार की हाइट/ लम्बाई, सीना और वजन का माप होता है.
  • मेडिकल टेस्ट (medical test) में सफल होने वाले उम्मीदवारों का चयन दरोगा के लिए होता है.
  • चयनित उम्मीदवारों का ट्रेनिंग होता है.
  • ट्रेनिंग पूरा होने के बाद उम्मीदवार की नियुक्ति राज्य के विभिन्न पुलिस थाने/ पुलिस चौकी में होता है.

बिहार पुलिस दरोगा का सैलरी कितना होता है?

बिहार पुलिस दरोगा का सैलरी 35,400 रूपये से 1,12,400 रूपये प्रतिमाह तक होता है. शुरूआती समय में 35,400 रूपये के हिसाब से प्रतिमाह सैलरी मिलता है. वेतन के अलावे अन्य भत्ते भी मिलते हैं, जैसे महंगाई भत्ता, यात्रा भत्ता, आवास भत्ता आदि. जैसे-जैसे अनुभव होता है, वैसे-वैसे वेतन में बढ़ोतरी होता है.

Bihar Daroga (Sub-Inspector/ SI) Selection Process in Hindi

बिहार पुलिस दरोगा का सिलेक्शन प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा, शारीरिक दक्षता परीक्षा और मेडिकल टेस्ट के द्वारा होता है. सबसे पहले प्रारंभिक परीक्षा/ मुख्य परीक्षा (Written Exam) होता है. दोनों चरणों की लिखित परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले उम्मीदवारों के लिए फिजिकल टेस्ट होता है. उसके बाद मेडिकल टेस्ट होता है. मेडिकल टेस्ट उत्तीर्ण करने वाले उम्मीदवारों का सिलेक्शन बिहार दरोगा (sub-inspector) के लिए होता है.

प्रारंभिक परीक्षा (Prelims Exam)

यह बिहार दरोगा (Bihar SI) भर्ती परीक्षा का प्रथम चरण का टेस्ट होता है, जो कुल 200 अंकों का होता है. इसमें General Knowledge/ Awareness और करंट अफेयर्स के 100 प्रश्न होता है. प्रत्येक प्रश्न के सही उत्तर के लिए 2 अंक निर्धारित होता है. परीक्षा का समय 2 घंटा निर्धारित होता है. Negative Marking का प्रावधान होता है.

मुख्य परीक्षा (Mains Exam)

प्रारंभिक लिखित परीक्षा के बाद मुख्य परीक्षा होता है. यह परीक्षा कुल 400 अंकों का होता है. मुख्य परीक्षा में दो पेपर होता है. पेपर I में General Hindi का 100 प्रश्न होता है. और पेपर II में General science,  जनरल स्टडीज, History, Geography, Polity economy और मेंटल एबिलिटी विषय का 100 प्रश्न होता है. दोनों पेपर के प्रत्येक प्रश्न के सही उत्तर के लिए 2 अंक निर्धारित होता है. इसमें भी नकारात्मक अंकन का प्रावधान होता है.

शारीरिक दक्षता परीक्षा (Physical Test)

लिखित परीक्षा (प्रारंभिक/ मुख्य) उत्तीर्ण अभ्यर्थियों के लिए शारीरिक दक्षता परीक्षा आयोजित किया जाता है. इसमें दौड़, लम्बी कूद, ऊँची कूद और शॉट पुट  होता है.

दौड़ (Running)

  • पुरुष उम्मीदवार को 1 mile की दुरी 6 मिनट 30 सेकंड में में तय करनी होती है.
  • और महिला उम्मीदवार को 1 km की दुरी 6 मिनट में तय करनी होती है.

लम्बी कूद (Long jump)

  • पुरुष उम्मीदवार को 12 फीट लॉन्ग जम्प लगानी होती है.
  • महिला उम्मीदवार को 9  फीट लॉन्ग जम्प करनी होती है.

ऊँची कूद (High jump)

  • पुरुष उम्मीदवार को 4 feet और महिला उम्मीदवार को 3 feet की हाई जम्प लगानी होती है.

मेडिकल टेस्ट (Medical Test)

शारीरिक दक्षता परीक्षा के बाद मेडिकल टेस्ट और डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन होता है. जिसमें उम्मीदवार की वजन, हाइट और शारीरिक स्वास्थ्य की जाँच होती है. मेडिकल टेस्ट पूरा होने के बाद उम्मीदवार का डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन होता है.

इसे भी पढ़ें- Delhi Police Constable Kaise Bane? 

Leave a Comment