DM Kaise Bane? DM Banne ke Liye Yogyata: District Magistrate IAS Kaise Bante Hai?

आप सभी डीएम यानी डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट का नाम सुने होंगे. डीएम जिले का मुखिया होता है. वह जिले की कानून व्यवस्था को बनाये रखता है. प्रत्येक जिले में एक न्यायलय होता है. जिला न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश को डीएम या जिला न्यायाधीश कहा जाता है. प्रशासनिक क्षेत्र में इनका पद सर्वश्रेष्ठ होता है. इनकी सैलरी अच्छी खासी होती है, इसके साथ ही समाज में इन्हें काफी सम्मान मिलता है. यह जानने के बाद आपके सोच रहे होंगे कि DM Kaise Bane? डीएम बनने के लिए कौन-सा एग्जाम पास करना होगा?

तो आज मैं आपसे इसी के बारे में बात करने जा रही हूँ कि DM Kaise Bane? यह प्रशासनिक सेवा का एक प्रतिष्ठित पद है. इस पोस्ट को पाने के लिए आपको सिविल सर्विस एग्जाम उत्तीर्ण करना होगा. सीएसइ एग्जाम पास करके आईएएस पोस्ट प्राप्त करना होगा. उसके बाद प्रमोशन के द्वारा जिला न्यायाधीश का पद प्राप्त कर सकते हैं.

अगर आप प्रशासनिक सेवा के क्षेत्र में डीएम बनना चाहते हैं और यह जानना चाहते हैं कि DM ke Liye Qualification क्या होना चाहिए? DM Banne ke Liye Yogyata होनी चाहिए? तो आप यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़ें.

DM ka Full Form Kya Hota Hai?

डीएम का फुल फॉर्म District Magistrate होता है. हिंदी में इसे ‘जिला न्यायाधीश या जिला दंडाधिकारी‘ कहा जाता है.

DM Kise Kahte Hai?

जिला न्यायाधीश को डीएम कहते हैं. यह किसी जिले का मुख्य न्यायाधीश होता है. प्रत्येक जिले में कानून व्यवस्था को बनाये रखने के लिए एक न्यायालय होता है. जिला न्यायालय के मुख्य अधिकारी को डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट कहा जाता है.

प्रत्येक जिले में एक जिला मजिस्ट्रेट होता है. इनका मुख्य कार्य जिले के कानून व्यवस्था को बनाये रखना होता है. और अपने से निचले स्तर के कर्मचारियों के कार्यों की देखरेख करता है.

DM ke Liye Qualification

  • उम्मीदवार किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से किसी भी स्ट्रीम में बारहवीं कक्षा (12th) पास होना चाहिए.
  • और किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी सब्जेक्ट में स्नातक (Graduation) पास होना चाहिए.
  • उसके बाद उम्मीदवार को सिविल सर्विस एग्जाम क्लियर करना होता है.

DM ke Liye Yogyata:DM Banne ke Liye Height

  • आपके पास ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए.
  • उम्मीदवार की न्यूनतम उम्र 21 वर्ष तथा अधिकतम उम्र 32 वर्ष होना चाहिए.
  • अधिकतम उम्र-सीमा में OBC Category के उम्मीदवारों को 3 वर्ष का छुट मिलता है.
  • एससी/ एसटी उम्मीदवारों को अधिकतम उम्र-सीमा में 5 वर्ष का छुट मिलता है.

DM Kaise Bane?

  • डीएम बनने के लिए सबसे पहले आपको किसी भी सब्जेक्ट में स्नातक (Graduation) पास करना होगा.
  • उसके बाद Civil Service Exam के लिए अप्लाई करना होगा.
  • प्रतिवर्ष संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) सिविल सर्विस एग्जाम के लिए Notification जारी करती है.
  • जब CSE Exam के लिए फॉर्म निकलता है, उस समय Application Form भरना होगा.
  • यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा को तीन चरणों में आयोजित करती है. Preliminary Exam, Mains Exam और इंटरव्यू.
  • इन तीनों एग्जाम को क्लियर करना होगा.
  • एग्जाम क्लियर करने के बाद IAS Officer का पोस्ट मिलता है.
  • आईएस ऑफिसर का पद प्राप्त करने के बाद पदोंउन्नति के द्वारा डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट का पोस्ट मिलता है.
  • एक-दो Promotion के बाद District Magistrate का पोस्ट मिलता है.

डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर (DC) कैसे बने?

DM ki Salary Kitni Hoti Hai?

डीएम की सैलरी 50,000 से 1 लाख रूपये तक होती है. DM Kaise Bane? ये जानने के बाद आपके मन में सवाल होगा कि डीएम की सैलरी कितनी होती है. जिला मजिस्ट्रेट का वेतन अच्छा खासा होता है. वेतन के अलावे अन्य भत्ते मिलता है. जैसे, महंगाई भत्ता, यात्रा भत्ता, आवास भत्ता और सेवानिवृत होने पर पेंशन मिलता है.

DM ka kya Kaam Hota Hai?

  • डीएम का मुख्य कार्य जिले के कानून व्यवस्था को बनाये रखना होता है.
  • सरकार को जिले में हुए अपराध के बारे में जानकरी देना.
  • जिलें में स्थापित सभी जेलों और पुलिस थाने का निरीक्षण करना.
  • मंडल आयुक्त को कार्यों के बारे में जानकारी देना.

DM ka Selection Kaise Hota Hai?

डीएम का सिलेक्शन यूपीएससी द्वारा आयोजित सिविल सर्विस एग्जाम के माध्यम से होता है. Civil Service Exam पास करके आईएएस पोस्ट प्राप्त करना होगा. IAS बनने के बाद प्रमोशन के द्वारा डीएम का पोस्ट मिलता है. UPSC सिविल सेवा परीक्षा को तीन चरणों में आयोजित करती है.

प्रारंभिक परीक्षा (Prelims Exam): यह सिविल सर्विस एग्जाम का प्रथम चरण का परीक्षा होता है. इसमें जनरल स्टडीज के दो पेपर होते हैं. दोनों पेपर में कुल 200-200 अंकों का प्रश्न होता है,सभी प्रश्न वैकल्पिक होते हैं.

मुख्य परीक्षा (Mains Exam): प्रारंभिक परीक्षा पास करने के बाद मुख्य परीक्षा होता है. इसमें कुल सात पेपर होते हैं. कुल 1750 अंकों की परीक्षा होती है. इसमें डिस्क्रिप्टिव टाइप के प्रश्न होते हैं.

साक्षात्कार (Interview): यह अंतिम चरण का परीक्षा होता है. मुख्य परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले अभ्यर्थियों को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है. इंटरव्यू पास करने के बाद आईएएस का पोस्ट मिलता है. IAS का प्रमोशन के द्वारा डीएम का पद मिलता है.

DM Banne ke Liye Kya Kare?

तो, यही है DM Banne ke Liye Yogyata. हमें आशा है कि आपको यह आर्टिकल DM Kaise Bane? अच्छा लगा होगा. और अब आपको अच्छे से पता भी चल गया होगा कि DM ke Liye Qualification क्या होना चाहिए? DM ki Salary Kitni Hoti Hai?

इससे सम्बंधित अगर आपके मन में किसी भी तरह का कोई भी सवाल हो, तो आप हमें निचे comment कर जरुर बताएं.

इसे भी पढ़ें: Forest Officer Kaise Bane?

Leave a Comment