Career Railway

Goods Guard Kaise Bane? Goods Guard ke Liye Qualification: रेलवे गुड्स गार्ड कि सैलरी कितनी होती है?

Goods Guard Kaise Bane
Written by Naukriejob.com

अगर आप कभी रेलवे में यात्रा किए होंगे, तो रेलवे गुड्स गार्ड का नाम अवश्य सुने होंगे. रेलवे विभाग में गुड्स गार्ड का पद बहुत ही जिम्मेदारी वाला होता है और इनकी  सैलरी भी अच्छी खासी होती है. यह जानने के बाद आपके मन में एक सवाल अवश्य होगा कि Goods Guard Kaise Bane? रेलवे में गुड्स गार्ड बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता क्या होनी चाहिए? गुड्स गार्ड बनने के लिए कौन-सा एग्जाम पास करना पड़ता है? इनकी सैलरी कितनी होती है?

तो आज मैं आपसे इसी के बारे में बात करने जा रही हूँ कि Railway Goods Guard Kaise Bane? रेलवे गुड्स गार्ड का पद बहुत ही जिम्मेदारी वाला होता है. यह ट्रेन के सबसे अंतिम डिब्बे में रहता है. और यह  इमरजेंसी ब्रेक भी लगा सकता है. गुड्स गार्ड ट्रेन को चलाने व रोकने के लिए ट्रेन ड्राईवर को अनुमति देता है. इस कारण इन्हें ट्रेन का इंचार्ज या रेलवे संरक्षक के नाम से भी जाना जाता है.

यदि आपका भी लक्ष्य रेलवे गुड्स गार्ड बनना है और यह आप जानना चाहते हैं कि Goods Guard ke Liye Qualification क्या होना चाहिए? Good Guard ki Salary Kitni Hai? तो आप यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़ें.

Goods Guard ka Kya Kaam Hota Hai? 

गुड्स गार्ड का काम लोको पायलट को ट्रेन को रोकने व चलाने का अनुमति देना होता है. इसके अलावे इनके अन्य कई कार्य होते हैं. गुड्स गार्ड ट्रेन के सबसे अंतिम डिब्बे में रहता है, इनका काम अंतिम डिब्बे में होता है, यह इमरजेंसी ब्रेक भी लगा सकते हैं. अंतिम डिब्बे में कार्य होने के कारण इन्हें रेलवे संरक्षक के नाम से भी जाना जाता है.

यह ट्रेन का इंचार्ज होता है और इन्हें ब्रेकमेन के जैसे कार्य करने होते हैं. इनका काम बहुत ही जिम्मेदारी वाला होता है. अंतिम डिब्बे में इन्हें कई समस्याओं का सामना करना  पड़ता है. जैसे, रेल के अंतिम डिब्बे में अकेले सफर तय करना पड़ता है. गर्मी के मौसम में बहुत अधिक गर्मी सहन करना पड़ता है एवं बरसात के मौसम में डिब्बे के छत के टिप-टिप पानी से भी भींगना पड़ता है.

Goods Guard ke Liye Qualification Kya Hona Chahiye? 

  • उम्मीदवार किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से किसी भी स्ट्रीम में बारहवीं (12th) कक्षा पास हो.
  • और किसी मान्यता प्राप्त University से किसी भी सब्जेक्ट में स्नातक (Graduation) पास होना चाहिए.
  • अभ्यर्थी के पास ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए.

Railway Goods Guard ke Liye Yogyata

  • अभ्यर्थी के पास कम से कम ग्रेजुएशन डिग्री होनी चाहिए.
  • उम्मीदवार की न्यूनतम उम्र 18 वर्ष तथा अधिकतम उम्र 33 वर्ष होनी चाहिए.
  • अधिकतम उम्र-सीमा में आरक्षित वर्ग (SC/ ST/ OBC) के उम्मीदवारों को छुट मिलता है.
  • आपकी आँखों की रौशनी 6/9 होनी चाहिए. आँखों में किसी भी तरह का समस्या न हो.
  • शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ हो.
  • साहस और धैर्य का गुण होना चाहिए. क्योंकि गुड्स गार्ड को रेल के अंतिम डिब्बे में अकेले सफर तय करना पड़ता है.

Goods Guard Kaise Bane? 

  • गुड्स गार्ड बनने के लिए सबसे पहले आपको ग्रेजुएशन (Graduation) पास करना होगा.
  • ग्रेजुएशन पास करने के बाद रेलवे गुड्स गार्ड जॉब के लिए आवेदन करना होगा.
  • रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड (RRB) समय-समय पर Railway Goods Guard ki Bharti के लिए Notification जारी करती है.
  • जब रेलवे गुड्स गार्ड Vacancy निकलता है, उस समय Online Apply करना होगा.
  • ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म भरने के बाद कंप्यूटर आधारित लिखित परीक्षा उत्तीर्ण करना होगा.
  • सबसे पहले Computer Based Test (CBT-I) उत्तीर्ण करना होगा.
  • प्रथम चरण का सीबीटी परीक्षा पास करने के बाद CBT-II क्लियर करना होगा.
  • कंप्यूटर आधारित (CBT-I & II) लिखित परीक्षा के बाद डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन होता है.
  • उसके बाद मेडिकल टेस्ट होता है.
  • Medical Test पास करने वाले अभ्यर्थियों को ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है.
  • ट्रेनिंग पूरा होने के बाद आपकी नियुक्ति रेलवे गुड्स गार्ड पद के लिए होता है.

इसे भी पढ़ें: Railway TC Kaise Bane?

Goods Guard ki Salary Kitni Hai?

गुड्स गार्ड की सैलरी 29,200 रूपये प्रतिमाह होती है. Goods Guard Kaise Bane? ये जानने के बाद आपके मन में एक सवाल होगा कि Good Guard ki Salary Kitni Hoti Hai? वेतन के अलावे ग्रेड पे पर इन्हें 2800 रूपये प्रतिमाह मिलता है. गुड्स गार्ड की सैलरी अच्छी खासी होती है. इसके साथ ही इन्हें कई अन्य भत्ते जैसे, यात्रा भत्ता, महंगाई भत्ता एवं मकान किराया भत्ता दिया जाता है.

Goods Guard ka Selection Process 

रेलवे गुड्स गार्ड का सिलेक्शन कंप्यूटर आधारित टेस्ट और मेडिकल टेस्ट के माध्यम से होता है. आवेदन करने के बाद कंप्यूटर आधारित प्रेलिमिनरी एग्जाम, मैन्स एग्जाम एवं दस्तावेज सत्यापन व मेडिकल जाँच होता है.

कंप्यूटर आधारित परीक्षा (CBT-I): यह प्रथम चरण का लिखित परीक्षा होता है. इसमें जनरल नॉलेज, मैथमेटिक्स, जनरल इंटेलिजेंस और रीजनिंग से प्रश्न पूछे जाते हैं. इसमें सभी प्रश्न Objective type के होते हैं. चार विकल्प दिया जाता है, किसी एक सही विकल्प को चुनकर उत्तर देना होता है. यह क्वालीफाइंग पेपर होता है. इसका अंक मेरिट में जुड़ता नहीं है.

Computer Based Test (CBT-II): प्रारंभिक लिखित परीक्षा पास करने के बाद कंप्यूटर आधारित मुख्य परीक्षा होता है. इसमें भी मैथमेटिक्स, जनरल नॉलेज, जनरल इंटेलिजेंस और Reasoning से प्रश्न पूछे जाते हैं. यह CBT-I से कठिन होता है. इसी के अंकों के आधार पर मेरिट बनता है.

मेडिकल टेस्ट (Medical Test): कंप्यूटर आधारित टेस्ट (CBT-I & II) उत्तीर्ण करने वाले अभ्यर्थियों को मेडिकल टेस्ट और डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए बुलाया जाता है. मेडिकल टेस्ट में सफल होने वाले उम्मीदवारों को ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है. प्रशिक्षण पूरा होने के बाद गुड्स गार्ड पद के लिए नियुक्ति होता है.

रेलवे में गुड्स गार्ड कैसे बने? 

तो, यही है Goods Guard ke Liye Qualification. हमें आशा है कि आपको यह आर्टिकल Goods Guard Kaise Bane? अच्छा लगा होगा. और अब आपको अच्छे से समझ में भी आ गया होगा कि गुड्स गार्ड का क्या काम होता है? Goods Guard ki Salary Kitni Hoti Hai?

इससे सम्बंधित अगर आपके मन में किसी भी तरह का कोई भी सवाल हो, तो आप comment कर जरुर बताएं.

इसे भी पढ़ें: SSC CGL ka Syllabus Kya Hai? 

About the author

Naukriejob.com

5 Comments

Leave a Comment