JTET ka Syllabus Kya Hai? Jharkhand TET Exam Pattern in Hindi: झारखण्ड टेट सिलेबस 2022

नमस्कार दोस्तों! naukriejob.com में आपका सवागत है. आज मैं आपसे JTET ka Syllabus Kya Hai? के बारे में बात करने जा रही हूँ. आपमें से कई लोग झारखण्ड में सरकारी शिक्षक बनना चाहते होंगें. झारखण्ड सरकार शिक्षकों की भर्ती के लिए टेट परीक्षा आयोजित करती है. Jharkhand TET Exam पास करने वाले उम्मीदवारों की नियुक्ति सरकारी शिक्षक पद के लिए होता है.

अगर आप JTET Exam (झारखण्ड शिक्षक पात्रता परीक्षा ) में शामिल होना चाहते हैं, तो आपको जेटेट परीक्षा का सिलेबस पता होना चाहिए. क्योंकि वर्त्तमान समय में प्रतिस्पर्धा बहुत है. लाखों करोड़ों अभ्यर्थी टेट परीक्षा के लिए आवेदन करते हैं. अच्छे अंकों में परीक्षा पास करने के लिए सिलेबस और परीक्षा पैटर्न को समझना बहुत जरुरी होता है. सिलेबस पता होगा कि किस टॉपिक से प्रश्न आते हैं और कितने अंकों का. तो टेट एग्जाम की तैयारी करने में आसानी होगी.

तो आज मैं आपको JTET Syllabus in Hindi के बारे में बताने जा रही हूँ. अगर आप झारखंड टेट की तैयारी करना चाहते हैं और टेट का पाठ्यक्रम के बारे में जानना चाहते हैं. तो आप यह आर्टिकल JTET Syllabus Kya Hai? अंत तक जरुर पढ़ें.

JTET Exam Pattern in Hindi

दोस्तों, सबसे पहले हम बात करेंगे कि टेट का एग्जाम पैटर्न कैसा होता है? झारखण्ड एकेडमिक काउंसिल (JAC) टेट की परीक्षा दो पेपर में आयोजित करती है. पहला पेपर प्राथमिक स्तर शिक्षक के लिए और दूसरा पेपर उच्च प्राथमिक स्तर शिक्षक भर्ती के लिए. दोनों स्तर का पेपर अलग-अलग होता है. जो अभ्यर्थी कक्षा 1 से 5 तक पढ़ना चाहते हैं, उन्हें पेपर I की परीक्षा देनी होगी. और जो उम्मीदवार कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों को पढ़ाने में रूचि रखते हैं, उन्हें पेपर II की परीक्षा पास करनी होगी.

यदि आप दोनों स्तर (Paper I & II) पेपर की परीक्षा देना चाहते हैं, तो दोनों के लिए आवेदन करना होगा. ऐसे में आपको दोनों पेपर का एग्जाम पैटर्न को समझना होगा और तैयारी करना होगा. Paper I में कुल 150 प्रश्न होता है, 150 अंकों का. पेपर II में कुल 210 प्रश्न होता है 210 अंक का. प्रत्येक प्रश्न के लिए 1 अंक निर्धारित होता है. इस परीक्षा में Negative Marking का प्रावधान नहीं होता है.

Jharkhand TET Ka Syllabus Kya Hai?

पेपर 1 सिलेबस (कक्षा 1 से 5 तक के लिए ):

  • बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र  ( 30 अंक )
  • भाषा-I (हिंदी/अंग्रेजी) ( 30 अंक )
  • भाषा-II (क्षेत्रीय भाषा) ( 30 अंक )
  • गणित ( 30 अंक )
  • पर्यावरण (30 अंक)

Paper-I (कक्षा 6 से 8 तक के लिए ):

  • बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र (30 अंक )
  • भाषा-I (हिंदी/ अंग्रेजी) (30 अंक )
  • भाषा-II (क्षेत्रीय भाषा) (30 अंक )
  • गणित और विज्ञान (60 अंक )
  • सामाजिक विज्ञान ( 60अंक )

पाठ्यक्रम: Primary Level ( Paper I) Syllabus 

  • शिक्षण अधिगम की प्रक्रिया
  • बाल विकास का सिद्धांत
  • सृजनात्मकता
  • बाल केन्द्रित शिक्षा
  • समावेशी शिक्षा
  • विशिष्ट आवश्यकता वाले बच्चों की शिक्षा
  • सीखने के लिए प्रेरणा और Iनिहितार्थ
  • सीखने की कठिनाइयाँ
  • बच्चे कैसे सोचते और सीखते हैं
  • अभिप्रेरण और सीखना
  • आनुवंशिकता और पर्यावरण
  • एनसीएफ (NCF) 2005
  • शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009
  • सतत एवं व्यापक मूल्यांकन

II. भाषा- I (हिंदी/ अंग्रेजी ) (Language-I)

  • व्याकरण- वर्ण, व्यंजन, तत्सम, तद्भव, संज्ञा, सर्वनाम, विशेषण,  लिंग, वचन, कारक, पर्यायवाची शब्द, विलोम शब्द, मुहावरे,
  • अपठित गद्यांश
  • शिक्षण अधिगम सामग्री
  • भाषा कौशल का विकास
  • भाषा शिक्षण के सिद्धांत एवं विधियाँ
  • भाषा शिक्षण में उत्पन्न कठिनाइयाँ
  • सतत एवं व्यापक मूल्यांकन

III. भाषा-II ( क्षेत्रीय भाषा) (Language- II)

  • क्षेत्रीय भाषा का ज्ञान
  • क्षेत्रीय भाषा से सम्बंधित व्याकरण की जानकारी
  • अपनी क्षेत्रीय भाषा की समझ
  • ग्रामीण क्षेत्रीय संस्कृति का ज्ञान

IV. गणित (Mathematics)

  • गणित की प्रकृति एवं स्वरूप
  • गणित शिक्षण की विधियाँ
  • संख्या पद्धति
  • संख्या का ज्ञान
  • पूर्ण संख्या का ज्ञान
  • अनुपात की समझ
  • पूर्णांक
  • सम और बिषम
  • भिन्न
  • प्रतिशत
  • लाभ/ हानि
  • वर्गमूल/ घनमूल
  • ज्यामितीय आकृति  एवं उसकी स्थानिक समझ
  • प्राकृतिक आकृतियों की समझना
  • माप- लम्बाई, मात्रा, भार, आयतन, समय
  • निदानात्मक एवं उपचारात्मक शिक्षण

V. पर्यावरण अध्ययन (Environmental Studies)

  • पर्यावरण शिक्षा
  • पर्यावरण अध्ययन का स्वरूप
  • पर्यावरण शिक्षा का महत्त्व
  • गतिविधियाँ
  • परिवार और पड़ोस – अपने आसपास के पडोसी
  • भोजन- पौधे और जंतुओं से प्राप्त भोजन
  • जल- जल के स्रोत्र, जल के प्रकार, जल का भण्डारण, जल का बचाव
  • आवास- आवास के प्रकार
  • यातायात का साधन

इसे भी पढ़ें: Traffic Police Kaise Bane?

JTET Paper II Syllabus in Hindi

आप Jharkhand TET Exam Pattern 2020 Hindi के बारे में जान गए होंगें. तो अब हम बात करेंगे Primary Level (6 to 8 ) Syllabus in Hindi के बारे में. बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र (Child Development & Pedagogy), भाषा I और भाषा II (Language Paper) का पाठ्यक्रम पेपर I (1 to 5/ Primary Level) के जैसा ही रहता है. केवल गणित, विज्ञान और सामाजिक विज्ञान का पाठ्यक्रम अलग होता है.

गणित (Mathematics)

  • संख्या पद्धति
  • पूर्ण संख्या
  • अनुपात
  • बीजगणित
  • वर्गमूल, घनमूल, गुणनखंड
  • ल. स./ म. स. (L.C.M/ H.C.F)
  • भिन्न संख्या
  • लाभ, हानि और प्रतिशत
  • चक्रवृद्धि ब्याज
  • लम्बाई, चौड़ाई, क्षेत्रफल, आयतन
  • माप-तौल
  • समय और कार्य
  • ज्यामितीय- आकृतियों को समझना
  • सांख्यिकी: आंकड़ों का प्रबंधन

विज्ञान (Science)

  • भोजन- भोजन के घटक, भोजन के स्रोत्र
  • जल के स्रोत्र
  • मिट्टी और उसके प्रकार
  • वायु
  • जीवित जीवों, सूक्ष्मजीवों, रोगों के प्रकार
  • दैनिक उपयोग की सामग्री
  • परमाणु संरचना
  • अणु
  • धातु और अधातु
  • यौगिक तत्व
  • अम्ल और क्षार
  • चुम्बक और चुम्बकत्व
  • विधुत प्रवाह
  • उर्जा के स्रोत्र
  • प्राकृतिक संसाधन
  • प्रदुषण
  • विज्ञान की प्रकृति और स्वरूप
  • विज्ञान का महत्व

सामाजिक विज्ञान (Social Science):

इतिहास  (History)

  • एक साम्राज्य का निर्माण
  • पहला साम्राज्य
  • प्रारंभिक अवस्थाएँ
  • पहले शहर
  • दिल्ली सल्तनत
  • राजनितिक विज्ञान
  • शुरूआती समाज
  • सामाजिक बदलाव
  • आजादी के बाद का भारत
  • 1857 का विद्रोह
  • उपनिवेशवाद और जनजातीय समाज
  • ग्रामीण जीवन
  • राष्ट्रवादी आन्दोलन
  • जाति व्यवस्था एक चुनौती
  • किसान और चारागाह
  • ईस्ट-इंडिया कंपनी
  • महिला सुधार आन्दोलन

भूगोल (Geography)

  • भूगोल एक सामाजिक अध्ययन और विज्ञान
  • पर्यावरण- प्राकृतिक और मानव पर्यावरण
  • संसाधन- प्राकृतिक और मानव निर्मित संसाधान
  • वायु
  • पानी
  • आवास
  • परिवहन और संचार
  • वन
  • मिट्टी के प्रकार
  • सौरमंडल
  • तारामंडल
  • ग्लोब
  • मानचित्र
  • कृषि
  • मानसून और जलवायु

नागरिकशास्त्र/ राजनीतिक विज्ञान(Political Science)

  • लोकतंत्र , जनतंत्र
  • संसदीय सरकार
  • कार्यपालिका, न्यायपालिका
  • सरकार, स्थानीय सरकार, राज्य सरकार
  • विविधता
  • सामाजिक न्याय
  • आजीविका
  • संचार और मीडिया
  • संविधान
  • अधिकार
  • मौलिक अधिकतर और कर्तव्य
  • चुनाव प्रणाली- पार्टी और दल

निष्कर्ष: JTET ka Syllabus Kya Hai?

तो दोस्तों, यही है JTET ka Syllabus. हमें आशा है कि आपको यह आर्टिकल झारखण्ड टेट पाठ्यक्रम (JTET ka Syllabus Kya Hai?) अच्छा लगा होगा. और अब आपको अच्छे से समझ में भी आ गया होगा कि झारखण्ड टेट परीक्षा में किस टॉपिक से प्रश्न पूछे जाते हैं. और जेटेट का सिलेबस कैसा होता है?

इससे सम्बंधित अगर आपके मन में किसी भी तरह का कोई भी सवाल हो, तो आप हमें निचे comment कर जरुर बताएं. अगर आप इसी तरह के ओर भी Career Blogs in Hindi पढ़ना चाहते हैं, तो आप हमें follow  कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें: JTET ki Taiyari Kaise Kare? 

4 thoughts on “JTET ka Syllabus Kya Hai? Jharkhand TET Exam Pattern in Hindi: झारखण्ड टेट सिलेबस 2022”

Leave a Comment