Career

लोक कल्याण मित्र कैसे बने? लोक कल्याण मित्र के लिए योग्यता: Lok Kalyan Mitra ki Salary

Lok Kalyan Mitra Kaise Bane
Written by Naukriejob.com

ग्रामीणों क्षेत्र के नागरिकों को सरकारी योजनाओं का लाभ देर से मिलता है. और कभी-कभी तो, ग्रामीणों को योजनाओं की सूचना तक प्राप्त नहीं  होती है, जिससे वह सरकारी लाभ से वंचित रह जाते है. ग्रामीणों को सरकारी योजनाओं की सूचना मिले और उन्हें योजना का लाभ मिले. इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए राज्य सरकार लोक कल्याण मित्रों की नियुक्ति करती है. यह जानने के बाद आपसे मन में सवाल होगा कि Lok Kalyan Mitra Kaise Bane?

तो आज हम आपसे इसी के बारे में बात करेंगे कि लोक कल्याण मित्र बनने के लिए क्या करे? इसके लिए योग्यताएं क्या होनी चाहिए. गाँवों के विकास और ग्रामीण जनों तक सरकारी लाभ पहुंचाने के लिए प्रखंड स्तर पर लोक कल्याण मित्र की नियुक्ति की जाती है. सभी सरकारी योजनाओं को ग्रामीणों तक पहुंचाने की जिम्मेदारी लोक कल्याण मित्र की होती है.

लोक कल्याण मित्र क्या है? 

लोक कल्याण का अर्थ, लोगों के कल्याण और विकास करने से है. जो व्यक्ति लोगों के कल्याण, विकास के लिए कार्य करता है, उन्हें लोक कल्याण मित्र कहा जाता है. लोक कल्याण मित्र प्रत्येक गाँवों में सरकारी योजनाएं पहुंचाती है. ग्रामीणों को सरकारी योजनाओ के बारे में जानकारी देता है और उन तक सरकारी योजना का लाभ पहुंचाता है.

लोक कल्याण मित्र बनने के लिए क्या करें?

लोक कल्याण मित्र बनने के लिए स्नातक डिग्री प्राप्त करने के बाद लोक कल्याण मित्र भर्ती के लिए आवेदन करना होगा. समय-समय पर राज्य स्तर पर लोक कल्याण मित्र की भर्ती के लिए सूचना निकलती है. लिखित परीक्षा के द्वारा लोक कल्याण मित्र की नियुक्ति होती है. लोक कल्याण मित्र भर्ती परीक्षा उत्तीर्ण करना होगा.

यह परीक्षा जिला स्तर पर आयोजित होती है. इस जिला स्तरीय परीक्षा को अच्छे अंकों में उत्तीर्ण करना होगा. परीक्षा में उत्तीर्ण अभ्यर्थियों का चयन लोक कल्याण मित्र पद के लिए होता है. सिलेक्शन होने के बाद एक साल का इंटर्नशिप करना होगा.

Lok Kalyan Mitra ke Liye Eligibility

  • उम्मीदवार किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी सब्जेक्ट में स्नातक (Graduation) उत्तीर्ण होना चाहिए.
  • इसके साथ ही उम्मीदवार को कंप्यूटर का ज्ञान होना चाहिए.
  • लोक कल्याण मित्र बनने के लिए ग्रेजुएशन डिग्री होना अनिवार्य है.

लोक कल्याण मित्र बनने के लिए योग्यता 

  • अभ्यर्थी की न्यूनतम उम्र 21 वर्ष तथा अधिकतम उम्र 40वर्ष होनी चाहिए.
  • आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को अधिकतम उम्र-सीमा में छुट मिलता है.
  • उम्मीदवार के पास दो साल का सामाजिक कार्य करने का अनुभव होना चाहिए.

लोक कल्याण मित्र कैसे बने?

  • लोक कल्याण मित्र बनने के लिए सबसे पहले आपको किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन उत्तीर्ण करना होगा.
  • और कंप्यूटर की जानकारी प्राप्त करनी होगी.
  • स्नातक डिग्री प्राप्त करने के बाद लोक कल्याण मित्र के आवेदन करना होगा.
  • सभी राज्य सरकारें समय-समय पर अपने राज्य में लोक कल्याण मित्रों की नियुक्ति के लिए सूचना जारी करती है.
  • जब Lok Kalyan Mitra Vacancy निकलता है, आवेदन करना होगा.
  • आवेदन करने के बाद लोक कल्याण मित्र भर्ती परीक्षा उत्तीर्ण करना होगा.
  • परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के बाद लोक कल्याण मित्र पोस्ट के लिए सिलेक्शन होता है.
  • चयन प्रक्रिया पूरा होने के बाद लोक कल्याण मित्र पद लिए नियुक्ति मिलता है.
  • नियुक्ति के बाद एक वर्ष तक इंटर्न के तौर पर कार्य करना होगा,अच्छे से ईमानदारी पूर्वक एक वर्ष कार्य करना होगा.
  • अगर एक साल के अंतराल में कार्य में गड़बड़ी पाई जाए, तो नौकरी से बर्खास्त भी हो सकते हैं.
  • इंटर्नशिप में अच्छे से कार्य करने वाले अभ्यर्थियों की कार्य अवधि बढ़ा दिया जाता है.

लोक कल्याण मित्र की सैलरी 

लोक कल्याण मित्र की सैलरी 25,000 रूपये प्रतिमाह है. इसके साथ ही यात्रा भत्ता 5,000 रूपये प्रतिमाह मिलता है. एक लोक कल्याण मित्र की सैलरी अच्छी-खासी होती है.

लोक कल्याण मित्र के कार्य 

  •  लोक कल्याण मित्र का मुख्य कार्य अपने क्षेत्र के सभी गाँवों के ग्रामीणों तक सरकारी योजनाओं को पहुँचाना है.
  • ग्रामीणों को सरकारी योजनाओं के विषय में बताना और समझाना.
  • सभी ग्रामीण जनों को सरकारी योजना का लाभ उपलब्ध करवाना.
  • सरकारी योजना के लाभ से वंचित लाभार्थियों तक सरकारी योजनाएं पहुँचाना.

लोक कल्याण मित्र का सिलेक्शन कैसे होता है? 

लिखित परीक्षा के द्वारा लोक कल्याण मित्र का सिलेक्शन होता है. लोक कल्याण मित्र की भर्ती के लिए 100 अंकों का लिखित परीक्षा का आयोजन किया जाता है. परीक्षा में जनरल नॉलेज,जनरल साइंस, मैथमेटिक्स, हिंदी, कंप्यूटर, ग्राम समाज एवं विकास और ग्रामीण विकास हेतु सरकारी योजनाएं आदि से सम्बंधित प्रश्न होते हैं. प्रत्येक प्रश्न एक अंक का होता है, कुल एक सौ अंकों की परीक्षा होती है.

इसे भी पढ़ें: ग्राम सचिव कैसे बने?

About the author

Naukriejob.com

Leave a Comment