Rojgar Sevak Kaise Bane? रोजगार सेवक का मानदेय, योग्यता

मनरेगा (MANREGA) कार्यों की कार्यान्वयन/ संचालन हेतु ग्रामीण स्तर पर ग्राम रोजगार सेवक की नियुक्ति होती है. रोजगार सेवक नरेगा के अंतर्गत आने वाली सभी ग्राम विकास योजनाओं का क्रियान्वयन करती है. इनकी नियुक्ति ग्रामीण विकास विभाग के अंतर्गत राज्य सरकार करती है. अब आपके मन में सवाल होगा कि रोजगार सेवक का मानदेय कितना है?तो आज आप जानेंगे Rojgar Sevak Kaise Bane? Rojgar Sevak ki Salary Kitni Hoti Hai?

रोजगार सेवक क्या होता है? 

रोजगार सेवक ग्राम पंचायत स्तर का कर्मचारी होता है. जो मनरेगा (MANREGA)/ महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम योजना के कार्य के संचालन व कार्यान्वयन का कार्य करती है. ग्राम रोजगार सेवक की भर्ती ग्रामीण विकास विभाग के अंतर्गत संविदा पर होती है. रोजगार सेवक की भर्ती राज्य सरकार के ग्रामीण विकास विभाग के तहत की जाती है. मनरेगा योजना से जुडी सभी कार्यों का कार्यान्वयन करती है. और ग्राम पंचायत स्तर पर कार्यरत अन्य मनरेगा कर्मचारियों की कार्यों का निगरानी करता है.

ग्राम रोजगार सेवक बनने के लिए क्या करें?

ग्राम रोजगार सेवक बनने के लिए सबसे किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से किसी भी स्ट्रीम में बारहवीं (10+2) कक्षा उत्तीर्ण करें. उसके बाद किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से कंप्यूटर कोर्स करें. बारहवीं पास और कंप्यूटर ज्ञान प्राप्त करने के बाद ग्राम रोजगार सेवक पद के लिए आवेदन करना होगा. समय-समय पर ग्रामीण विकास विभाग, ग्राम सेवक की रिक्ति पदों की भर्ती हेतु notification  जारी करती है. जब रोजगार सेवक भर्ती अधिसूचना निकलती है, उस समय अप्लाई करें.

रोजगार सेवक के लिए योग्यता

  • उम्मीदवार किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से किसी भी स्ट्रीम में बारहवीं कक्षा (10+2) उत्तीर्ण होना चाहिए.
  • और किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन कोर्स किया हो.
  • NIELIT संस्था द्वारा कराया जाने वाला ‘O’ Level कंप्यूटर कोर्स किया होना चाहिए.
  • उम्मीदवार की न्यूनतम उम्र 18 वर्ष तथा अधिकतम उम्र 40 वर्ष होनी चाहिए.

रोजगार सेवक कैसे बने?

  • रोजगार सेवक बनने के लिए सबसे पहले मान्यता प्राप्त बोर्ड से किसी भी स्ट्रीम में बारहवीं कक्षा (12th) उत्तीर्ण करें.
  • और किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से कंप्यूटर कोर्स करें.
  • बारहवीं पास और कंप्यूटर ज्ञान प्राप्त करने के बाद रोजगार सेवक के लिए आवेदन करना होगा.
  • समय-समय पर ग्रामीण विकास विभाग रोजगार सेवक की रिक्ति पदों की भर्ती हेतु job notification जारी करती है.
  • जब Rojgar Sevak ki Vacancy निकलती है, उस समय अप्लाई करना होगा.
  • आवेदन करने के बाद 12वीं कक्षा के अंकों के आधार मेरिट बनती है.
  • मेरिट के द्वारा रोजगार सेवक पद का चयन होता है.
  • जिन उम्मीदवारों का नाम मेरिट लिस्ट में होता है, उनकी नियुक्ति रोजगार सेवक पद के लिए होता है.

रोजगार सेवक का मानदेय कितना है?

रोजगार सेवक का मानदेय/ सैलरी 7000 रूपये प्रतिमाह है. समय-समय पर रोजगार सेवक का वेतन बढ़ते रहता है. विभिन्न राज्यों में    ग्राम रोजगार सेवक का वेतन अलग-अलग है.

रोजगार सेवक के कार्य

  • ग्राम रोजगार सेवक का मुख्य कार्य मनरेगा योजना की कार्यों का संचालन व कार्यान्वयन करना है.
  • जैसे मनरेगा योजना के तहत मजदूरों का जॉब कार्ड बनाना.
  • मनरेगा योजना की कार्यों में काम करने वाले मजदूरों की उपस्थिति दर्ज करना.
  • मास्टर रोल (दिहाड़ी का ब्यौरा) तैयार करना.
  • ग्रामीण स्तर पर मजदूरों की सर्वें करना.
  • राशन कार्ड बनवाने में ग्रामीण मजदूरों की सहायता करना.

Rojgar Sevak ka Selection Process

मेरिट के आधार पर रोजगार सेवक का सिलेक्शन होता है.  बारहवीं कक्षा की मार्कशीट में अंकित अंकों के आधार पर मेरिट बनती है. जिनका नाम मेरिट लिस्ट में आता हैं, उनका सिलेक्शन रोजगार सेवक पद के लिए होता है. चयनित अभ्यर्थियों की नियुक्ति ग्राम रोजगार सेवक पद में होता है.

इसे भी पढ़ें- ग्राम सचिव कैसे बने? योग्यता, कार्य, सैलरी 

1 thought on “Rojgar Sevak Kaise Bane? रोजगार सेवक का मानदेय, योग्यता”

Leave a Comment