Graduation Kaise Kare? ग्रेजुएशन के बाद क्या करें? BA ke baad Kya Karna Chahiye?

आप कई लोगों से सुने होंगे कि सिविल सर्विस एग्जाम फॉर्म भरने के लिए शैक्षणिक योग्यता कम से कम ग्रेजुएशन पास होना चाहिए. चाहे वह UPSC सिविल सर्विस एग्जाम हो या स्टेट लेवल सिविल सर्विस एग्जाम हो. सिविल सर्विस एग्जाम में शामिल होने के लिए ग्रेजुएशन डिग्री होना अनिवार्य है, यह जानने के बाद आपके मन में सवाल होगा कि ग्रेजुएशन करने के लिए क्या करें? तो आज आप जानेंगे कि Graduation Kaise Kare?

Graduation kya Hai?

ग्रेजुएशन एक बैचलर डिग्री कोर्स है, जिसे बारहवीं कक्षा (10+2) उत्तीर्ण करने के बाद किया जाता है. ग्रेजुएशन को हिंदी में ‘स्नातक‘ कहा जाता है. 12वीं पास करने के बाद इस कोर्स दाखिला ले सकते हैं. ग्रेजुएशन को अंडर ग्रेजुएट (यूजी) कोर्स भी कहा जाता है. ग्रेजुएशन कोर्स में आर्ट्स, कॉमर्स और साइंस सब्जेक्ट्स को अलग-अलग नामों से जाना जाता है. जैसे- बीए, बीएससी, बीकॉम आदि.

Graduation Karne ke Liye Eligibility

  • ग्रेजुएशन करने के लिए किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से बारहवीं कक्षा (10+2) उत्तीर्ण होना चाहिए.
  • साइंस सब्जेक्ट (केमिस्ट्री, फिजिक्स, बायोलॉजी, जूलॉजी, बॉटनी) में ग्रेजुएशन करने के लिए 12वीं साइंस स्ट्रीम में उत्तीर्ण होना चाहिए.
  • यानि जो सब्जेक्ट्स बारहवीं कक्षा में होंगे, उसी सब्जेक्ट्स से आप ग्रेजुएशन कर सकते हैं.
  • अगर आप Economics में ग्रेजुएशन करना चाहते हैं, तो बारहवीं में इकोनॉमिक्स होनी चाहिए.

Graduation Kaise Kare?

  • ग्रेजुएशन करने के लिए सबसे पहले आप किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से दसवीं कक्षा उत्तीर्ण करें.
  • उसके बाद जिन सब्जेक्ट में रूचि है, उस स्ट्रीम (साइंस/ कॉमर्स/ आर्ट्स) से 12वीं कक्षा पास करें.
  • बारहवीं पास करने के बाद किसी मान्यता प्राप्त संस्थान/ कॉलेज में Graduation (स्नातक) में एडमिशन लेना होगा.
  • सरकारी या प्राइवेट कॉलेज में ग्रेजुएशन पाठ्यक्रम में एडमिशन ले सकते हैं.
  • अपनी रूचि वाले सब्जेक्ट ग्रेजुएशन में रखें और पढाई पूरी करें.
  •  इस तरह से आप किसी भी संस्थान से ग्रेजुएशन कर सकते हैं.

Graduation ki Fees Kitni Hoti Hai?

सरकारी कॉलेज/ संस्थान में ग्रेजुएशन/ बीए की फीस 5000 से 10000 रूपये होती है, वहीं प्राइवेट संस्थान में बीए की फीस 20000 रूपये है. प्राइवेट संस्थान अपने अनुसार फीस वसूलती है. यानि विभिन्न प्राइवेट संस्थानों में बीए पाठ्यक्रम की फीस अलग-अलग होती है.

Graduation Kitne Sal ka Hota Hai?

ग्रेजुएशन/ स्नातक/ बीए 3 वर्ष की अवधि की होती है. तीन वर्षीय ग्रेजुएशन पाठ्यक्रम कुल 6 सेमेस्टर में विभाजित होता है. प्रत्येक 6 माह में एक सेमेस्टर की परीक्षा होती है. प्रथम सेमेस्टर में उत्तीर्ण होने पर ही अगले सेमेस्टर में जायेंगे और अगले सेमेस्टर का एग्जाम फॉर्म भर सकेंगे.

ग्रेजुएशन में कौन-कौन सब्जेक्ट्स होते हैं?

बीए में कई सब्जेक्ट्स होते हैं, इनमें से किसी भी एक विषय को मुख्य विषय (Honours subject) रख कर ग्रेजुएशन डिग्री प्राप्त कर सकते हैं.

  • इतिहास (History)
  • भूगोल (Geography)
  • राजनीति विज्ञान (Political Science)
  • समाजशास्त्र (Sociology)
  • दर्शनशास्त्र (Philosophy)
  • मनोविज्ञान (Psychology)
  • अर्थशास्त्र (Economics)
  • गणित (Mathematics)
  • व्यवसाय अध्ययन (Business Studies)
  • लेखा (Accountancy)
  • कंप्यूटर विज्ञान (Computer Science)
  • भौतिकी विज्ञान (Physics)
  • रसायन विज्ञान (Chemistry)
  • जीवविज्ञान (Biology)
  • जन्तुविज्ञान (Zoology)
  • वनस्पति ज्ञान (Botany)

Graduation ke Bad Kya Kare?

ग्रेजुएशन या बीए करने के बाद आप इससे आगे की उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं. जैसे- Post Graduation (स्नातकोत्तर) कर सकते हैं या करियर से सम्बंधित कोई डिप्लोमा या डिग्री कोर्स कर सकते हैं.

  • अगर आप टीचर बनना चाहते हैं, तो ग्रेजुएशन के बाद बीएड (B.Ed) कर सकते हैं.
  • रूरल डेवलपमेंट के क्षेत्र में करियर बनाने हेतु, रूरल डेवलपमेंट से जुडी PGDRD कोर्स कर सकते हैं.
  • स्नातक स्तरीय प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं जैसे, यूपीएससी सिविल सर्विस एग्जाम, स्टेट पीसीएस एग्जाम, बैंकिंग एग्जाम, एसएससी एमटीस, एसएससी क्लर्क एग्जाम आदि.
  • ग्रेजुएशन पास करने के बाद आप Civil Service Exam दे सकते हैं और प्रशासनिक अधिकारी बन सकते हैं.

इसे भी पढ़ें:- PGDRD Course Kaise kare?

1 thought on “Graduation Kaise Kare? ग्रेजुएशन के बाद क्या करें? BA ke baad Kya Karna Chahiye?”

Leave a Comment