Lecturer (लेक्चरर) Kaise Bane? लेक्चरर बनने के लिए क्या करें? Lecturer ke Liye Qualification, Salary

कॉलेज या यूनिवर्सिटी में शिक्षण कार्य (पढ़ाने) करने वाले व्यक्ति, प्रोफेसर या लेक्चरर कहलाते हैं. आपमें से कई लोग कॉलेज स्टूडेंट्स को पढाना चाहते होंगे, लेकिन आपको मालूम नहीं होगा कि कॉलेज में टीचर, लेक्चरर कैसे बनते हैं? तो आज आप जानेंगे Lecturer Kaise Bane? लेक्चरर की सैलरी कितनी होती है? Lecturer ke Liye Qualification क्या होना चाहिए?

लेक्चरर किसे कहते हैं?

महाविद्यालय और विश्वविद्यालय में पढ़ाने (शिक्षण कार्य करने) वाले व्यक्ति को लेक्चरर या प्रोफेसर कहते हैं. लेक्चरर किसी एक विषय का विशेषज्ञ (Subject Specialist) होता है. जो कॉलेज व यूनिवर्सिटी के विद्याथियों को पढ़ाते हैं. लेक्चरर एक शिक्षक होता है, जिस तरह स्कूल में शिक्षक होते हैं, उसी तरह कॉलेज और यूनिवर्सिटी में भी शिक्षक होते हैं, जो उच्च शिक्षा प्रदान करते हैं. कॉलेजयूनिवर्सिटी के टीचर को लेक्चरर क़हा जाता है. लेक्चरर या प्रोफेसर को हिंदी में ‘व्याख्याता‘ कहा जाता है.

लेक्चरर बनने के लिए क्या करें?

लेक्चरर या प्रोफेसर बनने के लिए सबसे पहले आप अपनी रूचि वाले सब्जेक्ट में किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से ग्रेजुएशन डिग्री (Graduation) उत्तीर्ण करें. उसके बाद किसी मान्यता प्राप्त संस्थान/ विश्वविद्यालय से पोस्ट ग्रेजुएशन (PG/ Master Degree) करें. पोस्ट ग्रेजुएशन (स्नातकोत्तर) डिग्री प्राप्त करने के बाद NTA द्वारा आयोजित NET एग्जाम (नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट) के लिए आवेदन करें. नेट एग्जाम का पेपर दें और नेट एग्जाम उत्तीर्ण करें.

नेट एग्जाम उत्तीर्ण करने के बाद सरकारी व निजी संस्थान में लेक्चरर बन सकते हैं. किसी प्राइवेट कॉलेज में लेक्चरर के लिए आवेदन करके, जॉब पा सकते हैं. सरकारी संस्थानों में लेक्चरर की रिक्ति पदों की भर्ती हेतु, राज्य लोक सेवा आयोग समय-समय job notification जारी करती है. जब Lecturer Recruitment सूचना निकलता है, उस समय अप्लाई करें.

आवेदन करने के बाद लिखित परीक्षा और इंटरव्यू उत्तीर्ण करना होगा. इंटरव्यू क्लियर करने के बाद डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन होता है. दस्तावेज सत्यापन के बाद चयन होता है. चयनित उम्मीदवारों की नियुक्ति राज्य के कॉलेजों, विश्विद्यालयों में लेक्चरर पद पर होता है. 

Lecturer ke Liye Qualification

  • उम्मीदवार किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय/ संस्थान से स्नातक डिग्री (Graduation) उत्तीर्ण होना चाहिए.
  • और किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से मास्टर डिग्री (Post Graduation) उत्तीर्ण होना चाहिए.
  • पोस्ट ग्रेजुएशन में कम से कम 55% अंक होना चाहिए.
  • उम्मीदवार NET (National Eligibility Test) एग्जाम उत्तीर्ण होना चाहिए.
  • नेट एग्जाम उत्तीर्ण का प्रमाण पत्र होना चाहिए.

लेक्चरर के लिए योग्यता 

  • उम्मीदवार मास्टर डिग्री/ पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स किया होना चाहिए.
  • और नेट एग्जाम ( UGC NET) उत्तीर्ण होना चाहिए.
  • उम्मीदवार का न्यूनतम उम्र 21 वर्ष तथा अधिकतम उम्र 42 वर्ष होना चाहिए.
  • अधिकतम उम्र-सीमा में आरक्षित वर्ग (SC, ST, OBC, PwD) के अभ्यर्थियों को नियमानुसार छुट दिया जाता है.

Lecturer Kaise Bane?

  • लेक्चरर (Lecturer) बनने के लिए सबसे पहले आप किसी भी स्ट्रीम में बारहवीं कक्षा (10+2) उत्तीर्ण करें.
  • उसके बाद किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से पसंदीदा सब्जेक्ट में स्नातक डिग्री (Graduation) की पढाई करें.
  • ग्रेजुएशन पास करने के बाद किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से पोस्ट ग्रेजुएशन (PG/ Master Degree) करें.
  • पोस्ट ग्रेजुएशन (स्नातकोत्तर) डिग्री प्राप्त करने के बाद UGC NET एग्जाम के लिए आवेदन करें.
  • NTA यानि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी वर्ष में दो बार NET (National Eligibility Test) एग्जाम आयोजित करती है.
  • जब एनटीए UGC NET Exam के लिए Application Notification जारी करती है, उस समय ऑनलाइन अप्लाई करना होगा.
  • ऑनलाइन एप्लीकेशन एनटीए की अधिकारिक वेबसाइट पर करना होगा.
  • नेट एग्जाम के लिए ऑनलाइन एप्लीकेशन करके, नेट एग्जाम देना होगा और नेट क्लियर करना होगा.
  • NET Exam में सफल होने के बाद सरकारी व प्राइवेट संस्थान में लेक्चरर के लिए आवेदन करना होगा.
  • प्राइवेट संस्थानों में केवल इंटरव्यू उत्तीर्ण करके लेक्चरर बन सकते हैं.
  • सरकारी संस्थानों में लेक्चरर की रिक्ति पदों की भर्ती हेतु, राज्य लोक सेवा आयोग job notification जारी करती है.
  • जब राज्य लोक सेवा आयोग Lecturer Recruitment Application सूचना जारी करती है, उस समय आवेदन करना होगा.
  • ऑनलाइन एप्लीकेशन सम्बंधित राज्य की लोक सेवा आयोग की आधिकारिक वेबसाइट पर करना होगा.
  • आवेदन करने के बाद लिखित परीक्षा उत्तीर्ण करना होगा.
  • लिखित परीक्षा (written test) पास करने के बाद व्यक्तिगत साक्षात्कार (interview) के लिए बुलाया जायेगा.
  • इंटरव्यू में सफल होने वाले उम्मीदवारों का चयन होता है.
  • चयनित उम्मीदवारों की नियुक्ति महाविद्यालय, विश्वविद्यालय में लेक्चरर पद पर होता है.

Lecturer ki Salary Kitni Hoti Hai?

लेक्चरर की सैलरी 37,400 रूपये से 67, 000 रूपये प्रतिमाह तक होता है. सरकारी लेक्चरर की अपेक्षा निजी या प्राइवेट संस्थान में  एक लेक्चरर को सैलरी कम मिलती है.

लेक्चरर का सेलेक्शन कैसे होता है?

लिखित परीक्षा (written test) और इंटरव्यू के द्वारा लेक्चरर का सिलेक्शन होता है? लिखित परीक्षा के माध्यम से उम्मीदवार की ज्ञान एवं टीचिंग स्किल्स का जांच होता है, उसके बाद इंटरव्यू के द्वारा उम्मीदवार का व्यक्तिगत जाँच होता है. इंटरव्यू में सफल होने वाले उम्मीदवारों का चयन लेक्चरर के लिए होता है. चयनित उम्मीदवारों की नियुक्ति ‘लेक्चरर’ पद पर होता है.

इसे भी पढ़ें- High School ( 10+2) Teacher Kaise Bane?

Leave a Comment