राशन डीलर कैसे बनें? राशन डीलर की सैलरी कितनी होती है? Dealer Kaise Bante Hai?

मध्यमवर्गीय परिवार और गरीबी रेखा के नीचे जीवनयापन करने वाले परिवारों हेतु, सरकार उचित मूल्य पर राशन उपलब्ध करवाती है. राशन में गेंहू, चावल, चीनी, मिट्टी का तेल आदि सामग्री उचित मूल्य पर प्रदान करती है. आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को उचित मूल्य में राशन उपलब्ध हो, इसलिए सरकार प्रत्येक ग्राम पंचायत में राशन दुकानदार या राशन डीलर की नियुक्ति करती है. तो आज आप जानेंगे कि Ration Dealer Kaise Bane? राशन डीलर की सैलरी कितनी होती है?

राशन डीलर क्या होता है?

राशन डीलर जन वितरण प्रणाली की दुकान का दुकानदार होता है, जो राशन कार्डधारकों के बीच सरकारी राशन का वितरण करती है. गरीबी रेखा के नीचे जीवनयापन करने वाले परिवारों, मध्यमवर्गीय परिवार और आर्थिक रूप से पिछड़े परिवारों, जिनका राशन कार्ड हैं, उन्हें राशन उचित मूल्य में प्रदान करती है. राशन डीलर प्रत्येक माह गेंहु, चावल, चीनी, मिट्टी तेल जैसी राशन सामग्री का वितरण करती है. राशन के बदले डीलर राशन कार्डधारकों से उचित व निर्धारित मूल्य वसूलती है, जो सरकार द्वारा निर्धारित मूल्य है.

राशन डीलर बनने के लिए क्या करें?

राशन डीलर बनने के लिए खाद्य आपूर्ति विभाग से राशन डीलर आवेदन फॉर्म प्राप्त करना होगा और उस फॉर्म को भरकर खाद्य विभाग के कार्यालय में जमा करना होगा. आवेदन फॉर्म पीडीएफ के रूप में ऑनलाइन भी प्राप्त कर सकते हैं.

राशन डीलर बनने के लिए योग्यता

  • उम्मीदवार कम से कम दसवीं कक्षा (10th) पास होना चाहिए.
  • और कंप्यूटर का बेसिक ज्ञान होना चाहिए.
  • आवेदक की न्यूनतम उम्र 21वर्ष होना चाहिए.
  • आवेदक के पास पहले से जनवितरण प्रणाली की दुकान नहीं होनी चाहिए.
  • राशन कार्ड डीलर बनने के इच्छुक व्यक्ति के बैंक खाते में कम से कम 40 हजार रूपये होनी चाहिए.

Ration Dealer ke Liye Document

  • 10वीं कक्षा उत्तीर्ण प्रमाण पत्र
  • कंप्यूटर सर्टिफिकेट
  • आयु प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • चरित्र प्रमाण पत्र (पुलिस अधीक्षक द्वारा जारी किया गया)
  • जिला अधिकारी द्वारा जारी चरित्र प्रमाण पत्र (Character Certificate) का रसीद

Ration Dealer Kaise Bane?

  • राशन डीलर बनने के लिए सबसे पहले दसवीं कक्षा उत्तीर्ण करें.
  • और कंप्यूटर का बेसिक ज्ञान प्राप्त करें.
  • उसके बाद राशन डीलर (जनवितरण प्रणाली दुकानदार) के लिए आवेदन करना होगा.
  • राशन डीलर का आवेदन फॉर्म खाद्य आपूर्ति विभाग के कार्यालय से प्राप्त करें, और उस एप्लीकेशन फॉर्म को अच्छे से भरकर खाद्य विभाग के अधिकारी के पास जमा करें.
  • डीलर का आवेदन फॉर्म आप पीडीऍफ़ के रूप में ऑनलाइन भी प्राप्त कर सकते हैं, और उसे भरकर खाद्य विभाग के कार्यालय में जमा कर सकते हैं.
  • आवेदन फॉर्म जमा करने के बाद खाद्य आपूर्ति विभाग के अधिकारी आपकी आवेदन फॉर्म में संलग्न दस्तावेजों की जाँच करेगी.
  • सभी दस्तावेज (डॉक्यूमेंट) की जाँच के बाद खाद्य आपूर्ति विभाग आपको जनवितरण प्रणाली दुकानदार (राशन डीलर) की लाइसेंस प्रदान करती है.
  • इस तरह से आप राशन डीलर बन सकते हैं.

राशन डीलर का वेतन कितना होता है?

राशन डीलर को सरकार वेतन नहीं देती है, बल्कि इन्हें वेतन के रूप कमीशन (Commission) मिलती है. कमीशन के रूप में प्रति किलोग्राम पर 75 से 80 पैसे मिलती है. सभी राज्यों में राशन डीलर का कमीशन अलग-अलग होता है. कमीशन के रूप में एक राशन डीलर का वेतन प्रतिमाह 25,000 से 30,000 रूपये तक होता है. राशन में कटौती या कालाबाजारी करके डीलर इससे भी अधिक आय  प्राप्त कर लेते हैं.

राशन डीलर का काम क्या होता है?

  • राशन डीलर का मुख्य काम प्रति माह समय से सभी राशन कार्ड धारकों को उचित मूल्य में राशन प्रदान करना होता है.
  • जनवितरण प्रणाली की दुकान प्रतिदिन समय से खोलना और बंद करना.
  • खाद्य आपूर्ति विभाग द्वारा भेजी गयी सभी प्रकार की राशन को लाभुकों के बीच आवंटित करना.
  • चावल, गेंहूँ, मिट्टी तेल, चीनी आदि राशन सामग्री का वितरण करना.
  • सही तरीके से राशन का मापन करके, बांटना.
  • प्रति माह राशन मंगवाने हेतु, ड्राफ्ट भरकर राशन डीलर के सुपरवाइजर के पास जमा करना.

इसे भी पढ़ें:- रोजगार सेवक कैसे बने? रोजगार सेवक के लिए योग्यता 

Leave a Comment