REET Exam ka Syllabus Kya Hai? RTET/ REET ka Syllabus, Exam Pattern

अगर आप राजस्थान के सरकारी स्कूलों में शिक्षक बनना चाहते हैं, तो राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा (REET/ RTET) क्वालीफाई, उत्तीर्ण करना होगा. और राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा (आरईईटी) उत्तीर्ण करने के लिए REET एग्जाम की Syllabus के आधार पर तैयारी करनी होगी. तो आज आप जानेंगे कि REET Exam ka Syllabus Kya Hai? REET/ RTET ka Exam Pattern aur Syllabus कैसा होता है?

REET Exam Kya Hai?

आरईईटी (REET) यानि Rajasthan Eligibility Examination for Teacher (राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा) होता है. इसे RTET के नाम से भी जाना जाता है. राजस्थान सरकार, राज्य के सरकारी स्कूलों में प्राथमिक शिक्षक और उच्च प्राथमिक शिक्षक की बहाली REET/ RTET के माध्यम से करती है.

राजस्थान टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट का आयोजन Board of Secondary Education, Rajasthan (BSER) करती है. राजस्थान टीईटी (RTET) दो पेपर में होता है. Paper I (class 1 to 5) प्राथमिक स्तर शिक्षक के लिए और Paper II (class 6 to 8) उच्च प्राथमिक स्तर शिक्षक के लिए.

REET ka Exam Pattern aur Syllabus

  • REET/ RTET दो पेपर में होता है (Paper I & II).
  • पेपर I प्रथमिक स्तर शिक्षक (क्लास 1 से 5 तक) के लिए होता है.
  • और पेपर II उच्च प्राथमिक स्तर शिक्षक (क्लास 6 से 8  तक) के लिए होता है.
  • पेपर I और II दोनों 150 अंकों की होती है.
  • दोनों पेपर में कुल प्रश्न 150 होता है और सभी प्रश्न ऑब्जेक्टिव टाइप के होते हैं.
  • आरईईटी में Negative Marking का प्रावधान नहीं होता है.

REET Paper 1 ka Exam Pattern

पेपर I में 5 विषय (Subject) का प्रश्न होता है, पांच खण्डों में. प्रत्येक subject के 30 प्रश्न होते हैं, कुल मिलाकर 150 प्रश्न होता है.

  • Child Development & Pedagogy (बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र) – 30 Question (30 Marks)
  • Language I (compulsory) (हिंदी/ अंग्रेजी/ संस्कृत/ उर्दू/ सिन्धी/ पंजाबी/ गुजराती) – 30 Question (30 Marks)
  • Language II (Compulsory) (हिंदी/ अंग्रेजी/ संस्कृत/ उर्दू/ सिन्धी/ पंजाबी/ गुजराती) – 30 Question (30 Marks)
  • Mathematics (गणित) – 30 Question (30 Marks)
  • Environmental Studies/ EVS (पर्यावरण अध्ययन)- 30 Question (30 Marks)

REET Paper 2 ka Exam Pattern

पेपर II का प्रश्न पत्र 4 खण्डों में विभाजित होता है. खंड A, B, C में 30-30 प्रश्न होते हैं और खंड D में 60 प्रश्न होते हैं, कुल मिलाकर 150  प्रश्न होता है.

  • Child Development & Pedagogy (बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र) -30 Question (30 Marks)
  • Language-I (हिंदी/ अंग्रेजी/ संस्कृत/ उर्दू/ सिन्धी/ पंजाबी/ गुजराती) – 30 Question (30 Marks)
  • Language-II (हिंदी/ अंग्रेजी/ संस्कृत/ उर्दू/ सिन्धी/ पंजाबी/ गुजराती) – 30 Question (30 Marks)
  • Mathematics and Science या (or) Social Science/ Social Studies – 60 Question (60 Marks)

REET Exam ka Syllabus Kya Hai?

बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र (CDP)

  • बच्चों के विकास के सिद्धांत
  • आनुवंशिकता और पर्यावरण का प्रभाव
  • बच्चे कैसे सीखते और सोचते हैं
  • अधिगम को प्रभावित करने वाले कारक
  • शिक्षण अधिगम प्रक्रिया
  • अधिगम कठिनाइयाँ
  • अधिगम के सिद्धांत
  • अभिप्रेरण
  • समायोजन
  • व्यक्तिगत विभिन्नताएं
  • विविध अधिगमकर्त्ताओं की समझ
  • बुद्धि
  • शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 (RTE, 2009)
  • आकलन, मूल्यांकन का उद्देश्य

हिंदी (Hindi)

  • अपठित गद्यांश, पद्यांश
  • पर्यायवाची शब्द, विलोम शब्द
  • वाक्य संरचना,
  • मुहावरें और लोकोक्तियाँ
  • भाषा की समझ, भाषा विकास एवं शिक्षण
  • सीखना और अधिग्रहण
  • भाषा शिक्षण के सिद्धांत
  • भाषा कौशल, भाषा की समझ और दक्षता का मूल्यांकन
  • शिक्षण सामग्री

अंग्रेजी ( English)

  • Unseen Poem
  • Principles of The Teaching English
  • Modal Auxiliaries

  • Phrasal Verbs and Idioms,

  • Literary Terms

  • Challenges of Teaching

  • Basic Knowledge of the English Sounds and their Phonetic Transcription

  • Communicative Approach to English Language Teaching

पर्यावरण अध्ययन (Environmental Studies)

  • पर्यावरण अध्ययन का महत्त्व
  • जीव-जंतु और उनके आवास
  • परिवार
  • व्यक्तिगत स्वच्छता
  • पेशा
  • पदार्थ और उर्जा
  • हमारी संस्कृति और सभ्यता
  • परिवहन एवं संचार
  • वस्त्र और आवास
  • सार्वजनिक स्थानों और संस्थानों
  • पर्यावरण अध्ययन की क्षेत्र एवं संकल्पना
  • पर्यावरण अध्ययन और पर्यावरण शिक्षा के अधिगम सिद्धांत
  • शिक्षण सामग्री
  • पर्यावरण अध्ययन का दायरा
  • चर्चा
  • अधिगम कठिनाइयाँ
  • सतत एवं व्यापक मूल्यांकन

RTET/ REET Exam Syllabus in Hindi 

गणित (Mathematics)

  • संख्या पद्धति
  • पूर्ण संख्याएँ
  • स्थानीय मान, तुलना
  • जोड़-घटाव, गुणा-भाग
  • ज्यामिति: आकार और स्थानिक समझ
  • समीकरण
  • प्रतिशत
  • ब्याज
  • अनुपात और समानुपात
  • बीजीय व्यंजक
  • गुणनखंड
  • LCM और HCF
  • भिन्न का जोड़-घटाव
  • वजन: नाप-तौल, लम्बाई, क्षमता
  • समय और कार्य
  • सतह क्षेत्र और आयतन
  • सांख्यिकी
  • आंकड़ों का संग्रहण
  • ग्राफ
  • रेखाएं और कोण
  • आकृतियों का आयतन
  • पृष्ठीय क्षेत्रफल तथा आयतन
  • गणित की प्रकृति
  • पाठ्यक्रम में गणित का महत्त्व
  • गणित शिक्षण-सहायक सामग्री
  • निदानात्मक एवं उपचारात्मक शिक्षण

विज्ञान (Science)

  • सजीव-निर्जीव
  • मानव शरीर और स्वास्थ्य
  • भोजन के घटक, भोजन के स्रोत्र
  • जीवित जीवों, सूक्ष्मजीवों
  • जंतु प्रजनन और किशोरावस्था
  • जल के स्रोत्र
  • रासायनिक पदार्थ
  • धातु और अधातु
  • चुम्बक और चुम्बकत्व
  • विधुत प्रवाह
  • उर्जा के स्रोत्र
  • सौरमंडल
  • बल एवं गति
  • ऊष्मा
  • प्रकाश और ध्वनि

सामाजिक विज्ञान (Social Science)

  • शिक्षाशास्त्रीय मुद्दे -I (Pedagogical Issues)

  • शिक्षाशास्त्रीय मुद्दे -II

  • भारतीय सभ्यता, संस्कृति और समाज

  • मौर्य साम्राज्य

  • गुप्त साम्राज्य एवं गुप्तोत्तर कल

  • मध्यकाल एवं आधुनिककाल का इतिहास
  • भारत का भूगोल एवं संसाधन
  • पृथ्वी के प्रमुख घटक
  • संसाधन एवं विकास
  • राजस्थान का भूगोल एवं संसाधन
  • भारतीय संविधान और लोकतंत्र

इसे भी पढ़ें- KVS PRT ka Syllabus in Hindi 

Leave a Comment