वार्ड सदस्य कैसे बने? Ward Sadasy ka Salary Kitna Hai?

पंचायती राज व्यवस्था में वार्ड सदस्य, मुखिया, पंचायत समिति और जिला परिषद् सदस्य की नियुक्ति त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के माध्यम से होता है. वार्ड सदस्य पंचायती राज व्यवस्था की सबसे निचली स्तर की जनप्रतिनिधि होता है. साधारण भाषा में कहे तो, वार्ड सदस्य ग्राम स्तर का जनप्रतिनिधि होता है, जो गाँवों की समस्यों को पंचायत के मुखिया तक पहुंचाती है. अब आपके मन में सवाल होगा कि वार्ड सदस्य कैसे बने? तो आज आप जानेंगे Ward Sadasy Kaise Bane? Ward Sadasy ka Salary kitna Hai?

वार्ड सदस्य क्या है?

एक गाँव या ग्राम कई टोलों में बंटा होता है. पंचायती राज व्यवस्था में एक ग्राम/ टोलों को कई वार्ड क्षेत्र में विभाजित किया गया है. लगभग 200 से 500 की जनसँख्या में एक वार्ड क्षेत्र होता है. पंचायत चुनाव के द्वारा प्रत्येक वार्ड के लिए एक सदस्य का चुनाव होता है, जो वार्ड सदस्य कहलाता है. सभी वार्ड में एक वार्ड सदस्य होते हैं.

वार्ड सदस्य का चुनाव कैसे होता है?

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के द्वारा वार्ड सदस्य का चुनाव होता है. पंचायत चुनाव में ग्राम स्तर पर कई सदस्यों का चुनाव होता है, जैसे मुखिया, पंचायत समिति, जिला परिषद. जिसमें वार्ड सदस्य का भी चुनाव होता है. प्रत्येक पांच वर्ष के अंतराल में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के द्वारा वार्ड सदस्य का चुनाव होता है. क्योंकि वार्ड सदस्य का कार्यकाल  की अवधि 5 वर्ष होती है.

Ward Sadasy ka Salary Kitna Hai?

वार्ड सदस्य का सैलरी 200 से 500 रूपये प्रतिमाह है. वार्ड सदस्य की सैलरी राज्य पर निर्भर करती है. सभी राज्यों में वार्ड सदस्य का वेतन अलग-अलग है. कुछ राज्यों में तो वार्ड सदस्य को किसी भी प्रकार का कोई वेतन नहीं दिया जाता है.

वार्ड सदस्य (Ward Member) के लिए योग्यता

  • वार्ड सदस्य उम्मीदवार की न्यूनतम उम्र 21 वर्ष होनी चाहिए.
  • उम्मीदवार का नाम मतदाता सूची में होना चाहिए.
  • उस ग्राम पंचायत वार्ड का नागरिक होना चाहिए, जिस वार्ड का सदस्य बनना चाहता हो.
  • उम्मीदवार किसी सरकारी लाभान्वित पद पर कार्यरत न हो.
  • उम्मीदवार कम से कम पांचवीं कक्षा पढ़ा हो, यह शैक्षणिक योग्यता केवल कुछेक राज्यों में अनिवार्य है.

Ward Sadasy Kaise Bane?

  • वार्ड सदस्य बनने के लिए सबसे पहले आपको 21 वर्ष की आयु पूरी करें.
  • न्यूनतम आयु सीमा पूरी होने के बाद त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में वार्ड सदस्य के लिए चुनाव लड़ना होगा.
  • प्रत्येक पांच वर्ष के अंतराल में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव होती है.
  • जब त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव हेतु नामांकन प्रक्रिया होती है, उस समय वार्ड सदस्य प्रत्याशी के रूप में नामांकन कराएं.
  • वार्ड सदस्य प्रत्याशी के रूप में अपना नामांकन कराएं एवं चुनाव लड़ें.
  • और पंचायत चुनाव में वार्ड सदस्य उम्मीदवार के रूप में विजयी प्राप्त करें.
  • जो प्रत्याशी/ उम्मीदवार विजयी घोषित होते हैं, वे वार्ड सदस्य बनते हैं.

Ward Sadasy ka Kaam Kya Hota Hai?

  • वार्ड सदस्य का काम अपने वार्ड क्षेत्र की जनसमस्याओं का निवारण करना होता है.
  • अपने क्षेत्र की समस्याओं को ग्राम पंचायत प्रधान यानि मुखिया तक पहुँचाना.
  • नल-जल/जलापूर्ति की व्यवस्था हेतु अपने वार्ड में काम करवाना.
  • वार्ड क्षेत्र के गरीब परिवारों को सरकारी योजनाओं का लाभ दिलवाना.

इसे भी पढ़ें:- जिला परिषद् सदस्य कैसे बनते हैं?

Leave a Comment