Post Graduation Kaise Kare? Post Graduation (PG) ke Liye Qualification, Fees

वर्त्तमान समय लगभग सभी स्टूडेंट्स उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहते हैं, जिससे उन्हें एक अच्छी सरकारी नौकरी मिल सकें. वैसे तो बारहवीं कक्षा, ग्रेजुएशन पास करने के बाद ही कई क्षेत्रों में नौकरी मिल जाती है. लेकिन फिर भी कुछ लोग ग्रेजुएशन से उच्च स्तर की शिक्षा यानि पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री प्राप्त करना चाहते हैं, ताकि नौकरी पाने में ओर भी आसानी हो. तो आज आप जानेंगे कि पोस्ट ग्रेजुएशन क्या है? Post Graduation Kaise Kare? Post Graduation ke Liye Qualification क्या होना चाहिए?

Post Graduation (PG) Kya Hai?

पोस्ट ग्रेजुएशन, ग्रेजुएशन कोर्स से उच्च स्तर की कोर्स या शिक्षा होती है. पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स को हिंदी में ‘स्नातकोत्तर‘ डिग्री कहा जाता है. पोस्ट ग्रेजुएशन को संक्षिप्त में पीजी (PG) कोर्स कहा जाता है. इस उच्च शिक्षा कोर्स को मास्टर डिग्री के नाम से भी जाना जाता है.

पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स करने के लिए क्या करें?

पीजी कोर्स यानि पोस्ट ग्रेजुएशन करने के लिए सबसे पहले आप किसी भी स्ट्रीम में बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण करें. उसके बाद किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से किसी भी सब्जेक्ट में स्नातक डिग्री (Graduation) अच्छे अंकों में उत्तीर्ण करें. ग्रेजुएशन डिग्री प्राप्त करने के बाद किसी मान्यता प्राप्त संस्थान में पोस्ट ग्रेजुएशन (PG course) कोर्स में एडमिशन लें.

किसी सरकारी या गैर-सरकारी मान्यता प्राप्त संस्थान में पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स में एडमिशन लेना होगा. या दूरस्थ शिक्षा (Distance Learning) के माध्यम से भी पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकते हैं. इसके अलावे इंदिरा गाँधी नेशनल ओपेन यूनिवर्सिटी (IGNOU) से डिस्टेंस लर्निंग के द्वारा भी पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकते हैं.

Post Graduation ke Liye Qualification

  • उम्मीदवार मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से स्नातक डिग्री (Graduation) 50% अंकों में उत्तीर्ण होना चाहिए.
  • आरक्षित वर्ग (SC/ ST/ OBC) के उम्मीदवार ग्रेजुएशन डिग्री कम से कम 45% अंकों में उत्तीर्ण होना चाहिए.

Post Graduation Kaise Kare?

  • पोस्ट ग्रेजुएशन करने के लिए सबसे पहले आप मान्यता प्राप्त बोर्ड से किसी भी स्ट्रीम में 12th पास करें.
  • उसके बाद किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी सब्जेक्ट में स्नातक डिग्री (Graduation) उत्तीर्ण करें.
  • ग्रेजुएशन डिग्री (Bachelor Degree) प्राप्त करने के बाद किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी या यूनिवर्सिटी से सम्बद्ध कॉलेज में पीजी कोर्स में एडमिशन लेना होगा.
  • जिस सब्जेक्ट में ग्रेजुएशन डिग्री उत्तीर्ण किये हो, उसी सब्जेक्ट में पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स (PG Course) में एडमिशन लेना होगा.
  • पीजी कोर्स में एडमिशन लेकर दो वर्षों तक अच्छे से पढाई करनी होगी.
  • दो वर्षीय पाठ्यक्रम चार सेमेस्टर में पूरी होती है, चारों सेमेस्टर की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी.
  • सभी सेमेस्टर की परीक्षाएं उत्तीर्ण करने पर पोस्ट ग्रेजुएशन/ मास्टर डिग्री का सर्टिफिकेट मिलता है.
  • दूरस्थ शिक्षा (Distance Learning) के द्वारा भी पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स कर सकते हैं.
  • इंदिरा गांधी नेशनल ओपेन यूनिवर्सिटी (IGNOU) से पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकते हैं.
  • बैचलर डिग्री प्राप्त करने के बाद इग्नू के PG Course में नामांकन लेना होगा.

पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स कितने साल का होता है?

पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स कुल 2 वर्ष का होता है. दो वर्षीय पाठ्यक्रम 4 सेमेस्टर में विभाजित होता है. प्रत्येक सेमेस्टर का परीक्षा 6 माह के अंतराल में होता है.

Post Graduation course ka Fees Kitna Hai?

पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स की फीस 20 हजार से 30 हजार रूपये तक होता है. पीजी कोर्स के एमए प्रोग्राम की फीस इतनी होती है. वहीँ एमएससी/ एमकॉम जैसी पीजी प्रोग्राम की फीस इससे अधिक होती है. एमएससी/ एमकॉम की विभिन्न प्रोग्राम का फीस अलग-अलग होता है. सरकारी कॉलेज की अपेक्षा प्राइवेट कॉलेज का फीस अधिक होता है.

इसे भी पढ़ें- MBA Kaise Kare? एमबीए की फीस कितनी है?

Leave a Comment