Rural Development Officer Kaise Bane? Rural Development Officer ke Liye Eligibility, Salary

गावों के विकास के लिए सरकार कई योजनाएं चला रही है. योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए सरकार रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर की नियुक्ति करती है. रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर ब्लाक डेवलपमेंट ऑफिसर, ग्राम प्रधान, पंचायत समिति के सदस्य के साथ ग्राम विकास के लिए कार्य करती है. रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर ग्रामीण विकास विभाग का मुख्य अधिकारी होता है. यह जानने के बाद आपके मन में सवाल होगा कि Rural Development Officer Kaise Bane? रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता क्या होनी चाहिए? इसके लिए कौन-सा एग्जाम उत्तीर्ण करना होगा? रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर का चयन कैसे होता है?

तो आज मैं आपसे इसी के बारे में बात करने जा रही हूँ कि Rural Development Officer Kaise Bane? रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर का पद राज्य सरकार के अधीन ग्रामीण विकास विभाग के अंतर्गत आता है. यह प्रखंड स्तर पर ग्रामीण विकास योजनाओं जैसे, मनरेगा, आवास योजना, कृषि विकास योजनाओं का क्रियान्वयन करती है. ग्रामीण विकास विभाग के क्षेत्र में रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर मुख्य अधिकारी होता है. इनकी नियुक्ति राज्य लोक सेवा आयोग पीसीएस एग्जाम के माध्यम से होता है.

अगर आप ग्रामीण विकास विभाग के अंतर्गत रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर बनना चाहते हैं और यह जानना चाहते हैं कि Rural Development Officer ke Liye Eligibility क्या होना चाहिए? Rural Development Officer ki Salary कितनी होती है? तो आप यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़ें.

Rural Development Officer Kya Hota Hai?

रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर ग्रामीण विकास विभाग के अंतर्गत एक पोस्ट होता है. ग्रामीण विकास विभाग, प्रखंड स्तर पर गाँवों के विकास के लिए प्रत्येक क्षेत्र में रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर की नियुक्ति करती है. रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर को हिंदी में ‘ ग्राम विकास अधिकारी‘ के नाम से जाना जाता है.

यह ग्रामीण विकास योजनाओं को गाँवों तक पहुंचाती है और योजनाओं का क्रियान्वयन एवं देखरेख करती है. अपने क्षेत्र के ग्राम प्रधान, पंचायत समिति के चयनित सदस्य, प्रखंड विकास अधिकारी के साथ मिलकर गाँवों का विकास करती है.

Rural Development Officer ke Liye Qualification

  •  उम्मीदवार किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से किसी भी स्ट्रीम में बारहवीं कक्षा (12th) पास होना चाहिए.
  • और किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी सब्जेक्ट में Graduation पास होना चाहिए.
  • ग्रेजुएशन डिग्री अनिवार्य है.

Rural Development Officer ke Liye Eligibility 

  • उम्मीदवार किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से Graduation पास होना चाहिए.
  • अभ्यर्थी की न्यूनतम उम्र 21 वर्ष तथा अधिकतम उम्र 37 वर्ष होनी चाहिए.
  • आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों को अधिकतम उम्र-सीमा में छुट डी जाती है.
  • उम्मीदवार भारत देश का नागरिक हो.
  • आप जिस राज्य में रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर बनना चाहते हैं, उस राज्य की अधिकारिक भाषा का ज्ञान होना चाहिए.

Rural Development Officer Kaise Bane?

  • रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर बनने के लिए सबसे पहले आपको किसी भी सब्जेक्ट में स्नातक (Graduation) पास करना होगा.
  • ग्रेजुएशन पास करने के बाद रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर जॉब के लिए Apply करना होगा.
  • ग्रामीण विकास विभाग समय समय पर Rural Development Officer ki Bharti के लिए सुचना जारी करती है.
  • जब रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर की रिक्ति पदों की भर्ती के लिए Notification निकलता है, उस समय अप्लाई करना होगा.
  • आवेदन करने के बाद सम्बंधित राज्य के राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित पीसीएस एग्जाम उत्तीर्ण करना होगा.
  • क्योंकि ग्रामीण विकास विभाग PSC Exam के माध्यम से रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर की नियुक्ति करती है.
  • पीसीएस एग्जाम तीन चरणों में पूरा होता है, प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू.
  • सबसे पहले प्रारंभिक लिखित परीक्षा उत्तीर्ण करना होगा.
  • उसके बाद मुख्य लिखित परीक्षा पास करना होगा.
  • दोनों लिखित परीक्षाओं में उत्तीर्ण होने के बाद इंटरव्यू होता है.
  • इंटरव्यू क्लियर करने के बाद मेरिट बनता है.
  • मेरिट के आधार पर रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर की नियुक्ति होती है.

Rural Development Officer ki Salary Kitni Hoti Hai?

रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर की सैलरी 20200 रूपये से 30,000 रूपये प्रतिमाह होता है. इसके अलावे ग्रेड पे पर अन्य राशि मिलती है. ग्रामीण विकास विभाग में रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर का वेतन अच्छा खासा होता है. वेतन के अलावे अन्य सुविधाएँ जैसे, महंगाई भत्ता, यात्रा भत्ता, पेंशन आदि मिलती है.

Rural Development Officer ka Selection Process Kya Hai?

रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर का सिलेक्शन राज्य लोक सेवा आयोग (State PSC) आयोग द्वारा आयोजित होने वाली Provincial Civil service Exam के माध्यम से होता है. सभी राज्यों में सम्बंधित राज्य लोक सेवा आयोग प्रांतीय सिविल सेवा परीक्षा के माध्यम से रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर की नियुक्ति होती है. स्टेट पब्लिक सर्विस कमीशन पीसीएस एग्जाम (PCS Exam) को तीन चरणों में आयोजित करती है. प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार.

प्रारंभिक परीक्षा (Prelims Exam)

यह पीसीएस एग्जाम का प्रथम चरण का परीक्षा होता है. यह लिखित परीक्षा होता है. इसमें सामान्य ज्ञान, सामान्य हिंदी, करंट अफेयर्स के प्रश्न होते हैं.

मुख्य परीक्षा (Mains Exam)

प्रथम चरण की परीक्षा के बाद मुख्य परीक्षा होटी है. यह एग्जाम उन अभ्यर्थियों के लिए होता है, जो प्रारंभिक परीक्षा में सफल होते हैं. यह परीक्षा प्रथम चरण की परीक्षा से कठिन होती है.

साक्षात्कार (Interview)

प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा पास करने के बाद इंटरव्यू होता है. लिखित परीक्षा में सफल होने वाले अभ्यर्थियों को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है. यह एक तरह का पर्सनल इंटरव्यू होता है. ऑफिसर्स आपसे कुछ सवाल करते हैं, उनका जवाब आपको अच्छे से देना होता है. इस टेस्ट के माध्यम से तार्किक ज्ञान की जाँच होती है.

Rural Development Officer Banne ke Liye Kya Kare?

तो, यही है Rural Development ke Liye Eligibility. हमें आशा है कि आपको यह आर्टिकल Rural Development Officer Kaise Bane? अच्छा लगा होगा. और अब आपको अच्छे पता भी चल गया होगा कि रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर का सिलेक्शन प्रोसेस क्या है? Rural Development Officer ki Salary Kitni Hoti Hai?

इससे सम्बंधित अगर आपके मन में किसी भी तरह का कोई भी सवाल हो, तो आप हमें निचे comment कर जरुर बताएं.

इसे भी पढ़ें: Polytechnic Kaise Kare? Polytechnic ke Liye Qualification

3 thoughts on “Rural Development Officer Kaise Bane? Rural Development Officer ke Liye Eligibility, Salary”

Leave a Comment